ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
यूएस ओपन खाली स्टेडियम में होने की पूरी उम्मीद, टोक्यो ओलिंपिक के लिए नया रोडमैप मई तक बन सकता है
April 17, 2020 • Rashtra Times

नई दिल्ली. कोरोनावायरस (कोविड-19) ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है। जुलाई-अगस्त तक के लगभग सभी खेल टाले या फिर रद्द कर दिए गए हैं। इस महामारी के बीच यूएस ओपन ऑर्गनाइजर्स ने ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट को निर्धारित समय पर करने का विचार बनाया है। इस बार यूएस ओपन बगैर दर्शकों के बंद स्टेडियम में हो सकता है। यह इवेंट 31 अगस्त से 13 सितंबर तक होना है। वहीं, टोक्यो ओलिंपिक के लिए नया रोडमैप मई तक बन सकता है। यह गेम्स अगले साल जुलाई-अगस्त में होंगे।

यूएस टेनिस एसोसिएशन के चीफ माइक डॉसे कहा, ‘‘यूएस ओपन अपने समय पर ही होगा। बगैर दर्शकों होने की संभावना है, लेकिन अभी हम इस बारे में ज्यादा कुछ नहीं कह सकते। मौजूदा समय में किसी में भी टेनिस को लेकर जश्न मनाने की भावना नहीं है। समय ने साथ दिया तो साल का आखिरी ग्रैंड स्लैम जरूर होगा। स्वभाविक है हमारा लक्ष्य भी टूर्नामेंट को सफलतापूर्वक कराना ही है।’’ स्पेन के टेनिस स्टार राफेल नडाल ने यूएस ओपन 2019 का खिताब जीता था। उन्होंने फाइनल में रूस के दानिल मेदवेदेव को हराया। नडाल चौथी बार यूएस ओपन चैम्पियन बने थे।

ऑस्ट्रेलियन ओपन सफलतापूर्वक हुआ
हर साल चार ग्रैंड स्लैम होते हैं। पहले ऑस्ट्रेलियन ओपन, दूसरा विंबलडन, तीसरा फ्रेंच ओपन और आखिर में यूएस ओपन होता है। इस साल ऑस्ट्रेलियन ओपन बगैर किसी बाधा के हो चुका है। टूर्नामेंट के फाइनल में सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने ऑस्ट्रिया के डोमिनिक थिएम को हराकर 8वीं बार खिताब जीता था। जबकि महिला सिंगल्स के फाइनल में अमेरिका की सोफिया केनिन स्पेन की गारबिन मुगुरुजा को हराया था। सोफिया का यह पहला ग्रैंड स्लैम खिताब है। वहीं, विंबलडन इस साल रद्द हो गया है। अब यह अगले साल 28 जून से 11 जुलाई के बीच होगा। जबकि पेरिस में होने वाले फ्रेंच ओपन को 20 सितंबर तक टाल दिया है।

टोक्यो ओलिंपिक को सफल बनाने की पूरी कोशिश करेंगे
टोक्यो गेम्स एसोसिएशन ने इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी (आईओसी) के साथ टेलीकांफ्रेंस के जरिए बैठक की। चर्चा के बाद बताया कि 2021 में होने वाले गेम्स को लेकर तैयारी इस महीने जांची जाएगी और मई तक इसका नया रोडमैप तैयार किया जाएगा। आईओसी की समन्वय समिति के अध्यक्ष जॉन कोट्स ने कहा कि ऐसी कठिन परिस्थिति में ओलिंपिक लोगों के लिए एक आशा की किरण बनकर उभरा है। वहीं, जापान के पूर्व प्रधानमंत्री योशिरो मोरी ने कहा, ‘‘हमने पिछले 5-6 सालों में जो कुछ तैयार किया है, उसे आज के फैसलों से आगे बढ़ाने का काम किया है। हम सभी साथियों के साथ मिलकर ओलिंपिक को सफल बनाने की पूरी कोशिश करेंगे।’’