ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
रामनवमी पर भगवान राम लॉक में, पटना के महावीर मंदिर में भक्तों की गैरमौजूदगी में हुई पूजा
April 2, 2020 • Rashtra Times

पटना. कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लगे 21 दिन के लॉकडाउन का आज 9वां दिन है। आज रामनवमी भी है। लॉकडाउन के चलते लोग अपने घरों में भगवान राम की पूजा कर रहे हैं। भगवान राम के मंदिर भक्तों के लिए बंद हैं। पटना के महावीर मंदिर में भक्तों की गैरमौजूदगी में पूजा की गई। मंदिर जाने वाले रास्ते को बंद कर दिया गया है। मंदिर के बाहर पुलिस बल की तैनाती की गई है। इस मंदिर में रामनवमी के दिन लाखों की भीड़ जुटती थी। भक्तों की लाइन कई किलोमीटर लंबी हो जाती थी। इसी तरह बड़ी पटनदेवी, छोटी पटनदेवी, अगमकुआं मंदिर और पटना सिटी के जल्ला महावीर मंदिर को भी आम श्रद्धालुओं के लिए बंद रखा गया है। 

आईजीआईएमएस में माइक्रोबायोलॉजी के एचओडी डॉक्टर एसके साही ने उम्मीद जताई है कि 15 अप्रैल के बाद कोरोना से बिहार में राहत मिल सकती है। साही ने कहा कि जो भी ग्राफ (मरीजों की संख्या) बढ़ रहा है यह तापमान को देखते हुए 10-12 अप्रैल तक जाएगा। इसके बाद अनुमान है कि बिहार में नए मरीजों की संख्या कम होने लगेगी। अगर मई में लगातार 15-20 दिन हीट वेव चला तो कोरोना के नए मरीजों की संख्या में बहुत कमी आएगी। 
नवादा: संकटमोचन मंदिर के बाहर पुलिस तैनात
नवादा के प्रसिद्ध संकचमोचन मंदिर में भी आम भक्तों के प्रवेश पर रोक लगाई गई है। मंदिर कमेटी के सदस्यों ने पूजा की है। सुबह एक दो लोग आए तो बाहर से ही दर्शन कर लौट गए। मंदिर के बाहर पुलिस बल की तैनाती की गई है। इस मदिर में रामनवमी के दिन भगवान के दर्शन के लिए लाखों की भीड़ जुटती थी। 

गया में लाठी लेकर पहरेदारी कर रहीं महिलाएं
कोरोना के संक्रमण के खतरे को देखते हुए शहर के अधिकतर लोग लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं। हालांकि कुछ लोग ऐसे भी हैं जो गैरजरूरी काम से सड़क पर निकल रहे हैं। गया के 2 मरीज कोरोना के पॉजिटिव मिले हैं। कोरोना न फैले इसके लिए शहर के कई इलाके में महिलाएं पहरेदारी कर रही हैं। लाठी लिए महिलाएं लोगों को बेवजगह सड़क पर घूमने से रोक रही हैं। 

सासाराम: प्रयागराज से पैदल आ रहे वैशाली के प्रवासी मजदूर ने डेहरी में दम तोड़ा
सासाराम में कोरोना संकट के बीच लॉकडाउन के बाद घर के लिए पलायन कर रहे एक मजदूर की बुधवार को मौत हो गई। वह व्यक्ति चार लोगों के साथ प्रयाग से पैदल आ रहा था। पैदल पहुंचे कुछ मजदूरों ने बताया कि यात्रा के दौरान उसने पेट दर्द की शिकायत की थी। कहीं जांच नहीं होने से दर्द के कारण पता नहीं चला। नगर थानाध्यक्ष सुबोध कुमार ने बताया कि प्रवासी मजदूर वैशाली के भगवानपुर थाना अंतर्गत तिरमपुर पश्चिम टोला का निवासी था। उसका नाम विलास महतो था। वह किसी दूसरे राज्य में मजदूरी करता था। वह वह अपने गांव जा रहा था।

सीवान: झोलाछाप डॉक्टरों के भरोसे कोरोना जंग की तैयारी करने वाले सीएस सस्पेंड
कोरोना से लड़ने के लिए झोलाछाप डॉक्टरों को ट्रेंड करने का आदेश देने वाले सीवान के सिविल सर्जन डॉ.अशेष कुमार को निलंबित कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग के निलंबन आदेश में कहा गया है कि डॉ. कुमार के इस तरह के आदेश से, सरकार द्वारा इस महामारी को रोकने के लिए किए जा रहे गंभीर प्रयास को धक्का लगा है। इस तरह के आदेश देने से पहले न तो विभाग को जानकारी दी गई और न ही कोई अनुमति ली गई।

बेगूसराय: कोरोना के मरीज का नाम उजागर करने पर केस दर्ज 
बेगूसराय पुलिस ने कोरोना के मरीज का नाम और पता सोशल मीडिया पर सार्वजनिक करने पर केस दर्ज किया है। एसपी अवकाश कुमार के आदेश पर भवेश कुमार भारतीय, सुबोध कुमार और ओम प्रकाश रजक पर नगर थाना में केस दर्ज किया गया है।