ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
राहुल बोले- रोजाना एक लाख टेस्ट किए जाने चाहिए; पता नहीं क्या मुश्किल है, जो किट का स्टॉक होने के बावजूद ऐसा नहीं हो पा रहा
April 26, 2020 • Rashtra Times

नई दिल्ली. कोरोनावायरस संक्रमण को देश में फैलने से रोकने के लिए विपक्ष ने एक बार फिर से केंद्र सरकार को सलाह दी है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि विशेषज्ञों भी मानते हैं कि कोरोनावायरस को हराने के लिए बड़े पैमाने पर रैंडम टेस्टिंग की जरूरत है। राहुल ने लिखा कि भारत में पहले से ही टेस्टिंग किट स्टॉक में है। एक समस्या है, जो भारत की मौजूदा रोजाना 40 हजार टेस्ट की क्षमता को एक लाख प्रतिदिन किए जाने से रोक रही है।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में प्रवासी मजदूरों का मुद्दा उठाया
राहुल ने कांग्रेस के कई शीर्ष नेताओं के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की। राहुल ने इस दौरान राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों का मुद्दा उठाया और कहा- मजदूरों की सुरक्षा की जिम्मेदारी प्रत्येक राज्यों को लेनी चाहिए। राज्य सरकारों को चाहिए की वह अपने यहां फंसे मजदूरों की देखभाल बेहतर तरीके से करें। वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने सहमति जताई और कहा कि राज्य सरकारों को इसके लिए रणनीति बनानी चाहिए। पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश ने टेस्टिंग बढ़ाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि हमारे पास मौजूदा टेस्टिंग से तीन गुना टेस्टिंग प्रतिदिन करने की क्षमता है। सरकार को इस पर ध्यान देना चाहिए।  

देश में अब तक 26 हजार 616 मामले
देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 26 हजार 616 हो गई है। इससे मरने वालों की संख्या भी 826 पहुंच गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में 5803 ठीक भी  हुए हैं। लॉकडाउन के दूसरे फेज में 10 दिन के अंदर इस बीमारी के मरीजों की संख्या दोगुना से ज्यादा हो गई है। 15 अप्रैल तक यह 12 हजार 370 थी, जो 25 अप्रैल देर रात 26 हजार 378 हो गई। शनिवार को रिकॉर्ड 1835 मामले आए। यह एक दिन में नए मरीजों की सबसे बड़ी संख्या है। इससे पहले 23 अप्रैल को 1667 संक्रमित मिले थे।