ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
नववर्ष मनाने वैष्णो देवी जा रहे हैं तो पहले कर लें रहने का इंतजाम
December 27, 2019 • Rashtra Times

जम्मू। अगर आप नववर्ष मनाने के लिए वैष्णो देवी की यात्रा पर आ रहे हैं तो पहले रहने की व्यवस्था जरूर कर लें वरना भटकना पड़ेगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि वैष्णो देवी में नववर्ष मनाने की चाहत रखने वालों ने पहले ही जो बुकिंग करवा ली हुई है उसके चलते 28 दिसम्बर से लेकर अगले साल के पहले हफ्ते तक न ही वैष्णो देवी भवन में कोई कमरा आपको खाली मिलेगा और न ही कटड़ा के बेस कैम्प में। माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड से मिली जानकारी के अनुसार, 28 दिसंबर से पांच जनवरी तक वैष्णो देवी भवन पर कोई भी कमरा व हाल उपलब्ध नहीं है। इसी तरह कटड़ा होटल व रेस्टोरेट एसोसिएशन के प्रधान शामलाल केसर ने बताया कि नव वर्ष के आगमन को लेकर होटल व गेस्ट हाउसों में एडवांस बुकिंग जोरों पर है। नववर्ष पर नगर के सभी होटल व गेस्ट हाउस भरे रहेंगे। गौरतलब है कि आधार शिविर कटड़ा में सामान्य से लेकर पांच सितारा तक करीब दो सौ होटल सहित करीब 250 गेस्ट हाउस हैं। बोर्ड प्रशासन का आधार शिविर कटड़ा में निहारिका कांप्लेक्स व त्रिकुटा भवन भी है। इसी तरह पर्यटन विभाग द्वारा भी पर्यटन केंद्र सहित यात्री निवास यात्रियों के लिए बनाए गए हैं। निहारिका कांप्लेक्स में सौ कमरे हैं, जिसका किराया चार सौ से एक हजार तक है। वहीं, निहारिका में डारमेटरी भी बनाई गई है, जिसमें करीब तीन सौ यात्री ठहर सकते हैं। त्रिकुटा भवन में भी सात सौ बेड है। कुल मिलाकर कटड़ा में 35 से चालीस हजार श्रद्धालुओं के रूकने की व्यवस्था है। श्राइन बोर्ड प्रशासन द्वारा वैष्णो देवी भवन पर गौरी भवन, कालका भवन व वैष्णवी भवन सहित कुछ हट्स भी बनाए गए हैं। जिसमें दो, चार व छह बेड वाले कुल 90 कमरों का किराया पांच सौ से लेकर 1200 रुपये तक है। जबकि मनोकामना भवन में 200 बेड हैं, जिसका किराया 80 रुपये प्रति बेड है। वहीं, दुर्गा भवन, श्रीधर भवन तथा सरस्वती भवन में करीब 5000 श्रद्धालुओं के निशुल्क ठहरने की व्यवस्था है। अर्द्ध कुंवारी में बोर्ड प्रशासन द्वारा दस कमरों वाला शारदा भवन बनाया गया है। शारदा भवन में ही निशुल्क धर्मशाला भी है, जिसमें करीब दो सौ श्रद्धालु ठहर सकते हैं।  जहां एक ओर वैष्णो देवी भवन पर सभी कमरे भरे हुए हैं वहीं, मां वैष्णो देवी की दिव्य आरती व प्राचीन गुफा के समक्ष अटका आरती की भी अग्रिम बुकिंग हो चुकी है। श्रद्धालुओं की उमड़ने वाली भारी भीड़ को लेकर बोर्ड प्रशासन ने वैष्णो देवी भवन व आधार शिविर कटड़ा में उनकी सुविधा के लिए तैयारी शुरू कर दी है। नववर्ष के आगमन पर विश्व प्रसिद्ध तीर्थस्थल वैष्णो देवी मां के भक्तों से गुलजार होने जा रहा है। इस दौरान लाखों श्रद्धालु यहां पहुंचेंगे। कई प्रसिद्ध भेंट गायक जहां कटड़ा में माता का भव्य जागरण करेंगे, वहीं श्रद्धालु मां का दर्शन कर नववर्ष की मंगलकामना मांगेंगे। पर इसके बावजूद श्राइन बोर्ड को यह उम्मीद नहीं है कि वैष्णो देवी में आने वाले श्रद्धालु इस बार संख्या का नया रिकार्ड बना पाएंगें क्योंकि अभी तक श्रद्धालु पिछले साल का रिकार्ड नहीं तोड़ पाए हैं और इस साल 10 लाख श्रद्धालु कम आए हैं। दरअसल नववर्ष को लेकर हर श्रद्धालु चाहता है कि उसे भवन पर रहने की व्यवस्था मिले, लेकिन सीमित जगह होने के कारण सभी श्रद्धालुओं का भवन पर रहना संभव नहीं है। वैष्णो देवी भवन पर प्रतिदिन मात्र दो से ढाई हजार श्रद्धालु ही रुक सकते हैं क्योंकि भवन पर रहने के लिए करीब एक सौ कमरों के साथ ही सात सौ डॉरमेट्री बेड हैं। दूसरी ओर आधार शिविर कटड़ा में श्रद्धालुओं के लिए उचित इंतजाम हैं। कटड़ा में करीब छह सौ होटल, गेस्ट हाउस व धर्मशालाएं हैं, जहां करीब 60 से 70 हजार श्रद्धालु रह सकते हैं। वहीं, कड़ाके की ठंड के चलते श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने जगह-जगह गर्म पानी, कंबल व अंगीठी का इंतजाम किया है। वैष्णो देवी यात्रा का इतिहास देखा जाए तो पूरे साल में 31 दिसंबर को ही सर्वाधिक यात्रा का आंकड़ा दर्ज किया जाता है। साल के अंतिम दिन करीब 40 से 50 हजार श्रद्धालु मां वैष्णो देवी के दर्शन के लिए पहुंचते हैं। इस बीच भवन मार्ग पर बैटरी कार सेवा, वैष्णो देवी भवन व भैरो घाटी के बीच चलने वाली पैसेंजर केबल कार सेवा श्रद्धालुओं को तत्काल उपलब्ध होगी क्योंकि वैष्णो देवी भवन व भैरो घाटी के बीच पैसेंजर केबल कार सेवा की ऑनलाइन बुकिग बिल्कुल नहीं है। दूसरी ओर वैष्णो देवी मार्ग पर चलने वाली बैटरी कार सेवा की श्राइन बोर्ड की ओर से केवल 20 ऑनलाइन बुकिग रखी गई है। बाकी तत्काल सेवा उपलब्ध है। बीते 25 दिसंबर को कुल 23512 श्रद्धालुओं ने मां वैष्णो देवी के चरणों में हाजिरी लगाई थी।