ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
महिला दिवस पर किया गया महिलाओं को सम्मानित 
March 8, 2020 • Rashtra Times

नोएडा। सेक्टर-48 में स्थित ब्रह्माकुमारीज़ सेवा केंद्र में रविवार को महिला दिवस व होली स्नेह मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में अनेकों की संख्या में लोग मौजूद रहे व कार्यक्रम की शोभा बढ़ाने आये पूर्व अतर्रराष्टÑीय मॉडल व नायक जो कि आज बह्माकुमारीजÞ में एक कुशल वक्ता के रूप में सेवा दे रहे है, होली शब्द का अंग्रेजी भाषा में अर्थ होता है पवित्रता। पवित्रता प्रत्येक व्यक्ति को काम्य होती है और इस त्योहार के साथ यदि पवित्रता की विरासत का जुड़ाव होता है तो इस पर्व की महत्ता शतगुणित हो जाती है। भारतवर्ष त्यौहारों का देश है। हर एक त्यौहार का अपना एक सांस्कृतिक, आध्यात्मिक एवं सामाजिक महत्व होता है। इन सारे त्यौहारों में होली ही एक त्यौहार है जो पौराणिक, ऐतिहासिक, सांस्कृतिक के साथ-साथ आमोद-प्रमोद के लिये मनाया जाने वाला खुशियों का त्यौहार है। बुराई पर अच्छाई की विजय का, असत्य पर सत्य और शत्रुता पर मित्रता की स्थापना का यह पर्व विलक्षण एवं अद्भुत है। पुराने गिले-शिकवे भुला कर एक दूसरे के रंग में रंग जाने, हर्ष और उल्लास से एक दूसरे से मिलने और एक दूजे को आपसी सौहार्द एवं खुशियों के रंग लगाने के अनूठे दृश्य इस त्यौहार में मन को ही नहीं माहौल को भी खुशनुमा बनाते हैं। रंगों से ही नहीं, नृत्य गान, ढोलक-मंजीरा एवं अन्य संगीत वादक यंत्रों को बजा कर मनोरंजन करते हैं। होली के त्योहार का विराट समायोजन बदलते परिवेश में विविधताओं का संगम बन गया है। इस अवसर पर रंग, गुलाल डालकर अपने इष्ट मित्रों, प्रियजनों को रंगीन माहौल से सराबोर करने की परम्परा है, जो वर्षों से चली आ रही है। एक तरह से देखा जाए तो यह अवसर प्रसन्नता को मिल-बांटने का होता है। यह पर्व सबका मन मोह लेता है जहाँ भक्त और भगवान एकाकार होते हैं एवं उनके बीच वात्सल्य का रसरग प्रवहमान होता है। सचमुच होली दिव्य है, अलौकिक है और मन को मांजने का दुर्लभ अवसर है। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि महिलाओं ने इस कार्यक्रम में अपनी भावी उपस्थिति देकर मौजूद लोगों का मनोबल बढ़ाया। जिन्होंने अपने घर-परिवार के साथ-साथ जीवन में समाज व वर्ग में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। सभी मुख्य अतिथियों का स्वागत शाखा की मुख्य संचालिका बहन ऋचा व जिम्मेवार बहन रूची ने स्नेह का प्रतीक पुष्प गुच्छ, स्मृति चिह्न व स्रेह निशानी देकर किया। इस मौके पर प्रधान श्रीमति विमलेश प्रधान जो एककुशल, मृदुभाषी, व भावी प्रधान के साथ समाजसेविका के रूप में अपना योगदान दे रहीं हैं, श्रीमति श्वेता त्यागी जो कि न्यू नोएडा पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्या है जो केवल एक कुशल , शिक्षित प्रधानाचार्या ही नहीं बल्कि एक गरीब बच्चों की पढ़ाई में भी अपना सहयोग दे रही हैं, श्रीमति मधु सरन जो एक पर्यावरण संरक्षक कार्यकर्ता है जिन्होंने अपने कठोर प्रयास से अपने आसपास के क्षेत्रों में सफाई रखने में अपना योगदान दिया है, श्रीमति दीप्ति वार्ष्णेय जो कि एक योगाचार्या व समाजसेविका हैं साथ ही साथ बृद्ध आश्रम व गरीब बच्चों की शिक्षा में अपना अह्म योगदान दे रहीं ही हैं, श्रीमति तारा जो कि महिला सशक्तिकरण संगठन व बृद्ध आश्रम में अपना सहयोग दे रहीं हैं व कमला लाल जो कि एक सफल व कुशल व्यवसायी होने के साथ ही दिल्ली गोल्फ हाऊस की निदेशक हैं। कार्यक्रम इतना भव्य था कि जहां इतने लोगों ने अपना योगदान दिया वहां देश के सिपाही भी  पीछे नहीं रहे सेक्टर 48 के चौकी प्रभारी बलवीर भी अपनी उपस्थिति दी। स्रेह मिलन के इस पावन कार्यक्रम का संचालन मुख्य संचालिका बहन ऋचा के साथ उनके सहयोगियों ने किया। इस पावन वेला पर सभी राजयोगी भाई व बहन के साथ सभी अतिथिगण मौजूद रहे।