ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
कोरोना वायरस: अमेरिका में अब तक 16 लाख लोगों की जांच की गई, ट्रंप बोले- सामाजिक दूरी अत्यंत जरूरी
April 6, 2020 • Rashtra Times

वाशिंगटन कोरोना वायरस के कहर से दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका त्राहिमाम कर रहा है। यहां संक्रमित मरीजों और इस वायरस से मरने वालों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। अमेरिका में अब तक संक्रमित मरीजों की कुल संख्या तीन लाख 36 हजार से ज्यादा हो गई है और 9600 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, करीब 18 हजार लोग इस बीमारी से ठीक हुए हैं।
इसी बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि देश में कोरोना वायरस के लिए अब तक 16 लाख जांच की गई हैं। घातक विषाणु के संक्रमण के चलते अमेरिका में मृतकों का आंकड़ा दस हजार के करीब पहुंचने के साथ ही उन्होंने देशवासियों से सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए घरों के भीतर ही रहने की अपील की।

ट्रंप ने रविवार को व्हाइट हाउस में प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि अमेरिका में अब तक 16 लाख लोगों की जांच की गई हैं जो किसी भी देश के मुकाबले सबसे ज्यादा हैं। लगभग पूरे देश के लिए बड़ी आपदा की घोषणा कर दी गई है और अमेरिका की 33 करोड़ जनसंख्या में से 95 प्रतिशत से अधिक लोग घरों के भीतर रहने के आदेश का पालन कर रहे हैं।

कोरोना वायरस के खिलाफ अमेरिकी प्रयासों को सैन्य अभियान बताते हुए ट्रंप ने कहा कि दुनिया भर से लाखों मास्क, दस्ताने, सुरक्षात्मक उपकरण और चिकित्सीय आपूर्ति देश में पहुंचाई गई हैं। ट्रंप ने कहा कि यह वास्तव में पुरजोर सैन्य अभियान है जो हमने पिछले कुछ हफ्तों में शुरू किया है। 50 राज्यों एवं क्षेत्रों में बड़ी आपदा की घोषणा करने की तैयारी है जो बहुत असामान्य है।

कोरोना वायरस से निपटने के लिए मलेरिया की दवाई हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के इस्तेमाल पर दोहराते हुए ट्रंप ने कहा कि अमेरिका ने देश भर में बांटने के लिए करीब 2.9 करोड़ खुराक की खरीद की है। उधर मृतकों का आंकड़ा लगातार बढ़ने के साथ स्वास्थ्य अधिकारियों ने चेताया है कि आने वाला हफ्ता पर्ल हार्बर जैसा क्षण हो सकता है। इसे देखते हुए अमेरिकी गवर्नरों ने तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के खिलाफ राष्ट्रीय रणनीति बनाने की व्हाइट हाउस से अपील की है।

देश में वैश्विक महामारी संकट से उबरने के लिए नीति बना रहे वरिष्ठ वैज्ञानिक एंथनी फाउची ने बड़े खतरे को लेकर आगाह किया और कहा कि अमेरिकियों को बुरे हफ्ते के लिए तैयार रहना चाहिए। फाउची ने रविवार को सीबीएस से कहा कि मैं यह नहीं कहूंगा कि हमने इस पर काबू पा लिया है।