ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
खेल की 3 आदतें, जो कोरोनावायरस के बाद बदल सकती हैं; हाथ मिलाना भी छोड़ सकते हैं खिलाड़ी
April 7, 2020 • Rashtra Times

नई दिल्ली. कोरोनावायरस की वजह से खेल बुरी तरह प्रभावित हुआ है। स्पोर्ट्स इवेंट बंद हैं। सिर्फ 3-4 देश ही हैं, जहां फुटबॉल या बास्केटबॉल खेले जा रहे हैं। खेल के दौरान खिलाड़ियों की कुछ आदतें होती हैं, जिसे वो बार-बार दोहराते हैं। कोरोनावायरस के बाद ये शायद देखने को न मिले। इसी वजह से खेल पहले से अलग देखने को मिल सकता है।

मैच से पहले और बाद में हाथ मिलाना
खिलाड़ी मैच से पहले और बाद में हाथ मिलाते हैं, गले मिलते हैं। कोरोनावायरस के बाद वे इससे भी बचते दिख सकते हैं। एनबीए स्टार लेब्रन जेम्स ने कुछ समय पहले कहा था कि मैं अब अपने पूरे जीवन में हाई-5 नहीं करूंगा। फुटबॉल में गोल करने के बाद खिलाड़ी साथ मिलकर खुशी मनाते हैं, ये भी कम हो सकता है।

टेनिस में बॉल बॉय या गर्ल से तौलिया लेना
टेनिस मैच के दौरान खिलाड़ी तौलिए का इस्तेमाल करते हैं। इसके लिए कोर्ट के पास ही बॉल बॉय या बॉल गर्ल तौलिया लेकर खड़े रहते हैं। एटीपी ने कुछ मैचों के दौरान ट्रायल के लिए रैक रखवाया था। लेकिन यह खिलाड़ियों को पसंद नहीं आया। अब जब मैच होंगे तो खिलाड़ी दूसरों के हाथ में तौलिया लेने से बचेंगे।

गेंद पर थूक लगाकर चमक बनाए रखना
क्रिकेट में गेंदबाजी करने वाली टीम गेंद पर थूक लगाकर चमक बरकरार रखने की कोशिश करती है। क्रिकेटरों की आदत होती है कि गेंद पास आने के साथ ही उस पर थूक लगाना शुरू कर देते हैं। टेस्ट में इससे रिवर्स स्विंग में काफी मदद मिलती है। कोरोना के बाद खिलाड़ी डर से शायद ही गेंद पर थूक लगाएं।