ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
कांग्रेस पर बरसे रविशंकर प्रसाद, बोले- सोनिया गांधी हमें राजधर्म न सिखाएं
February 28, 2020 • Rashtra Times

नयी दिल्ली। भाजपा के वरिष्ठ नेता और कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस वार्ता के जरिए कांग्रेस पार्टी से कई सवाल पूछे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी कल महामहिम राष्ट्रपति जी के यहां गई थी। हमें राजधर्म के बारे में बताया जा रहा है। आज मुझे राजधर्म के बारे में कांग्रेस पार्टी और सोनिया जी से कुछ सवाल करने हैं। आपको बता दें कि गुरुवार को कांग्रेस के आलानेतृत्व ने राष्ट्रपति भवन जाकर दिल्ली में हुई हिंसा मामले को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की थी और अपील की थी कि गृह मंत्री अमित शाह से उनका इस्तीफा मांगा जाए।

इसी मुलाकात को लेकर अब रविशंकर प्रसाद का बयान सामने आया है। उन्होंने भाजपा मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा कि सोनिया जी पहली बात आप ये बताइए कि जो पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के विस्थापित हैं, जिनको उनकी आस्था के आधार पर प्रताड़ित किया जा रहा है, उसको लेकर आपकी पार्टी की एक सोच रही है। आपके नेताओं ने बार-बार खुलकर इस पर स्टैंड लिया था।

प्रसाद ने कहा कि इंदिरा जी ने युगांडा के विस्थापितों की मदद की थी, राजीव गांधी जी ने तमिल लोगों की मदद की थी, मनमोहन जी ने कहा था कि नागरिकता मिलनी चाहिए और अशोक गहलोत जी ने तो शिवराज पाटिल और आडवाणी जी को पत्र लिखा था कि नागरिकता मिलनी चाहिए। 

इसी क्रम में उन्होंने आगे कहा कि ये कौन सा राजधर्म है कि आज सब पलट गए। सोनिया जी आपको इसका जवाब देना पड़ेगा कि क्या मनमोहन जी ने जो किया था वो गलत था? क्या जो इंदिरा जी और राजीव जी ने काम किया था वो गलत था? उन्होंने कहा कि सोनिया जी आपने रामलीला मैदान में कहा था कि इस पार और उस पार की लड़ाई होगी। ये कौन सी भाषा है ? ये उत्तेजना नहीं है तो क्या है ?

एनपीआर का जिक्र करते हुए भाजपा नेता ने कहा कि एनपीआर कांग्रेस सरकार ने शुरू किया। आप करें तो ठीक, हम उसी काम को करें तो उस पर लोगों को उकसाया जाए। ये कौन सा राजधर्म है सोनिया जी ?