ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
जयपुर में 23, कोटा में 19 पॉजिटिव मिले; जोधपुर में 14 और अजमेर में 11 संक्रमित
April 28, 2020 • Rashtra Times

जयपुर. राजस्थान में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। रोक नए-नए केस सामने आ रहे हैं। मंगलवार को भी राज्य में 73 नए पॉजिटिव मिले। जिसमें कोटा में 19, जयपुर में 23, जोधपुर में 14, अजमेर में 11, टोंक में 3, धौलपुर में 2 और सीकर में 1 संक्रमित मिला। जिसके बाद कुल संक्रमितों का आंकड़ा 2335 पहुंच गया। वहीं कोटा में एक 60 साल के बुजुर्ग व्यक्ति की मौत भी हो गई। जिन्हे 27 अप्रैल को भी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। 

इससे पहले सोमवार को 7 नए पॉजिटिव केस सामने आए। जिसमें जयपुर में  25, झालावाड़ में 10, टोंक में 8, जोधपुर में 11, चित्तौड़गढ़ में 7, कोटा में 7, नागौर में 3, भीलवाड़ा में 2, उदयपुर,पाली, अजमेर और जैसलमेर में 1-1 केस सामने आया। जिसके बाद कुल आंकड़ा 2262 पहंच गया।  वहीं कुल 9 लोगों की मौत हुई। जिसमें जयपुर में 6, भरतपुर, जोधपुर और कोटा में एक-एक मौत हुई।

राजस्थान में सबसे ज्यादा संक्रमित जयपुर में

प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा केस जयपुर में हैं। यहां 858 (2 इटली के नागरिक) संक्रमित हैं। इसके अलावा जोधपुर में 436 (इसमें 47 ईरान से आए), कोटा में 184, अजमेर में 135, टोंक में 126, भरतपुर में 110, नागौर में 116, बांसवाड़ा में 62, जैसलमेर में 49 (इसमें 14 ईरान से आए), झुंझुनूं में 42, झालावाड़ में 40, बीकानेर में 37, भीलवाड़ा में 35 मरीज मिले हैं। उधर, दौसा में 21, चूरू में 14, हनुमानगढ़ में 11, सवाईमाधोपुर में 8, चित्तौड़गढ़ में 8, अलवर में 7, डूंगरपुर में 6, सीकर में 6, उदयपुर में 6, धौलपुर में 7, करौली में 3, पाली में 3, बाड़मेर और प्रतापगढ़ में 2-2 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। वहीं राजसमंद में 1 संक्रमित मिला है।

अब तक 51 लोगों की मौत

राजस्थान में कोरोना से अब तक 51 लोगों की मौत हुई है। इनमें पांच कोटा, दो भीलवाड़ा, 29 जयपुर (जिसमें दो यूपी से), पांच जोधपुर, दो सीकर, दो भरतपुर, एक अलवर, एक बीकानेर, एक नागौर और एक टोंक  में हो चुकी है। भीलवाड़ा में पहली मौत 73 वर्षीय बुजुर्ग की हुई थी। वह डायलिसिस पर थे। दूसरी मौत भी भीलवाड़ा में एक 60 साल के व्यक्ति की हुई। उसकी भी तबीयत ठीक नहीं थी। तीसरी मौत अलवर के रहने वाले 85 साल के बुजुर्ग की हुई। उन्हें ब्रेन हेमरेज हुआ था। चौथी मौत बीकानेर में 60 साल की महिला की हुई। वहीं पांचवी मौत जयपुर में 82 साल के बुजुर्ग की हुई। 
छठी मौत कोटा में एक 60 साल के बुजुर्ग की हुई। उन्हें निमोनिया की शिकायत थी। वहीं प्रदेश में सातवीं मौत जोधपुर में 77 साल के बुजुर्ग की हुई। आठवीं मौत जयपुर के रामगंज में रहने वाली 65 साल की महिला की हुई। वहीं नौंवी मौत जयपुर के रामगंज इलाके में 62 साल के बुजुर्ग की हुई। इसके बाद 10वीं मौत 13 साल की बच्ची की हुई। उसे निमोनिया की शिकायत थी।
इसके बाद 11वीं मौत टोंक में 60 साल के बुजुर्ग की हुई। वहीं 12वीं मौत जयपुर रामगंज की रहने वाली एक 65 साल की बुजुर्ग की हुई। जिसके बाद 13वीं मौत कोटा में रहने वाली 70 साल की महिला की हुई। वहीं 14वीं मौत भट्टा बस्ती में 65 साल का बुजुर्ग की हुई। जो शहीद इंद्रा ज्योति नगर का रहने वाला था। 11 अप्रैल को आईसीयू में एडमिट था। जो एक दिन पहले पॉजिटिव आया था। जिसकी बुधवार देर रात मौत हो गई। इसके दो बेटे भी आइसोलेशन में भर्ती है। जिसके 16 अप्रैल को सुपुर्दे खाक किया गया। 
पंद्रहवी मौत जोधपुर में 53 साल के कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति की हुई। प्रदेश में 16वीं मौत एक 22 साल के लड़के की हुई। जो जयपुर के गुल्जार मस्जिद घाटगेट का रहने वाला था। जिसके बाद 17वीं मौत भी जयपुर में हुई। वहीं 18वीं मौत 76 साल के बुजुर्ग की एसएमएस अस्पताल में हुई। साथ ही 19वीं मौत जयपुर में 47 साल के युवक की हुई। 
20वीं वहीं जयपुर के तेलीपाड़ा निवासी एक 48 साल की महिला की मौत हो गई थी। जिनकी रिपोर्ट मौत के बाद पॉजिटिव मिली। 21वीं मौत शास्त्री नगर में एक 53 साल के बुजुर्ग की हुई।  वहीं 22वीं मौत राजपार्क गली नंबर 1 निवासी 62 साल के एक व्यक्ति की हो गई। जो सीके बिड़ला में भर्ती थे। वहीं 23वीं मौत एक 65 साल के व्यक्ति की हुई। जो गलता गेट के रहने वाले थे। उन्हे 11 अप्रैल को पॉजिटिव आने के बाद एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जिसके बाद 24वीं मौत नागौर की रहने वाली 62 साल की बुजुर्ग की हुई। जिन्हे 18 अप्रैल को एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। 19 अप्रैल की सुबह उनकी मौत हो गई। जिसकी रिपोर्ट आज पॉजिटिव आई। वहीं 25वीं मौत कोटा में 65 साल की महिला की हुई। जानकारी अनुसार महिला को 19 अप्रैल को मृत अवस्था में अस्पताल लाया गया था। जिनकी रिपोर्ट 20 अप्रैल को पॉजिटिव पाई गई। 
26वीं मौत रामगंज में रहे वाले एक 64 साल के बुजुर्ग की हुई। जिसे 18 अप्रैल को भर्ती करवाया गया था। बुजुर्ग को अस्थमा की बीमारी थी। 27वीं मौत भरतपुर जिले के पथेना भुसावर में हुई। जहां महिला की एसएमएस जयपुर में मौत और गांव में अंतिम संस्कार के बाद कोरोना वायरस की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। राज्य में 28वीं मौत लक्ष्मणगढ़ के रहने वाले एक बुजुर्ग की हुई। जिसकी रिपोर्ट मौत के बाद पॉजिटिव पाई गई। 29वीं मौत जयपुर जिले के जमवारामगढ़ के रहने वाले 75 साल के बुजुर्ग की हुई। 30वीं मौत जयपुर के रामगंज में 60 साल के व्यक्ति की हुई। जो 22 अप्रैल को एसएमएस में भर्ती करवाए गए थे। 23 अप्रैल को रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। इसी दौरान उनकी मौत हो गई। 
31वीं मौत जयपुर के एमडी रोड पर रहने वाले 60 साल के व्यक्ति की हुई। जो एसएसएस की इमरजेंसी में भर्ती थे। जिनकी मौत 23 अप्रैल को हो गई थी। जिसके बाद रिपोर्ट पॉजिटिव आई। 32वीं मौत जयपुर के आदर्श नगर में रहने वाली 75 साल की महिला की हुई। जो 18 अप्रैल को एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाई गई थीं। 21 अप्रैल को रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वहीं 24 अप्रैल को मौत हो गई। वहीं राज्य में 33वीं मौत जयपुर रामगंज में रहने वाली 65 साल की बुजुर्ग महिला की हुई। 34वीं मौत कोटा में 32 साल के युवक की हुई। जिसके कई और बीमारियां भी थीं।
35वीं मौत जोधपुर में एक 65 वर्षीय कोरोना संक्रमित की हुई। साथ ही 36वीं मौत जोधपुर में एक 60 वर्षीय महिला की हुई। 37वीं मौत जयपुर में एक 50 साल के व्यक्ति की हुई। जिनकी मौत 25 अप्रैल को हो गई थी। 26 को रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। 38वीं मौत जयपुर घाटगेट निवासी 55 साल की महिला की हुई। जो 24 अप्रैल को मृत्यू होने के बाद अस्पताल लाई गईं थी। जिसके बाद रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। वहीं 39वीं सीकर के 29 साल के युवक की रिकॉर्ड की गई। जिसे 21 अप्रैल को एसएमएस में भर्ती करवाया गया था। 24 अप्रैल को युवक की मौत हो गई थी। 40वीं मौत जोधपुर में 65 साल की महिला की हुई। जो 25 अप्रैल को पॉजिटिव पाई गई। जिनकी 26 अप्रैल को मौत हो गई।
41वीं मौत उत्तरप्रदेश के रहने वाले 16 साल के बच्चे की हुई। जो 25 मार्च से अस्पताल में भर्ती था। जो 26 अप्रैल को पॉजिटिव पाया गया। इसी दिन बच्चे की मौत हो गई। 42वीं मौत सूरजपोल के रहने वाले 28 साल के युवक की हुई। जिसे 24 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। 43वीं मौत हीदा की मोरी की रहने वाली 62 साल की महिला की हुई। वहीं 44वीं मौत हाजी कॉलोनी की 24 साल की लड़की की हुई। जिसकी डिलिवरी के दौरान मौत हो गई थी। रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। 45वीं मौत भरतपुर जिले के हिसामडा तहसील वैर की रहने वाली 20 वर्षीय एक गर्भवती महिला की प्रसव के दौरान हुई। जिसका रिपोर्ट मौत के बाद पॉजिटिव पाई गई। बच्चा भी मृत अवस्था में पैदा हुआ। 46वीं मौत जयपुर लुणियावास निवासी 38 साल के व्यक्ति की हुई। वहीं 47वीं मौत जोधपुर में नई सड़क निवासी 56 वर्षीय बुजुर्ग की हुई। वहीं 48वीं मौत जयपुर जिले के शाहपुरा में 44 साल की महिला की हुई। वहीं 49वीं मौत कोटा में 70 साल के बुजुर्ग व्यक्ति की हुई। वहीं 50वीं मौत जयपुर में हुई।
राजस्थान में कोरोना से अब तक 46 लोगों की मौत हुई है। इनमें चार कोटा, दो भीलवाड़ा, 27 जयपुर (जिसमें दो यूपी से), पांच जोधपुर, दो सीकर, दो भरतपुर, एक अलवर, एक बीकानेर, एक नागौर और एक टोंक  में हो चुकी है। भीलवाड़ा में पहली मौत 73 वर्षीय बुजुर्ग की हुई थी। वह डायलिसिस पर थे। दूसरी मौत भी भीलवाड़ा में एक 60 साल के व्यक्ति की हुई। उसकी भी तबीयत ठीक नहीं थी। तीसरी मौत अलवर के रहने वाले 85 साल के बुजुर्ग की हुई। उन्हें ब्रेन हेमरेज हुआ था। चौथी मौत बीकानेर में 60 साल की महिला की हुई। वहीं पांचवी मौत जयपुर में 82 साल के बुजुर्ग की हुई। 
छठी मौत कोटा में एक 60 साल के बुजुर्ग की हुई। उन्हें निमोनिया की शिकायत थी। वहीं प्रदेश में सातवीं मौत जोधपुर में 77 साल के बुजुर्ग की हुई। आठवीं मौत जयपुर के रामगंज में रहने वाली 65 साल की महिला की हुई। वहीं नौंवी मौत जयपुर के रामगंज इलाके में 62 साल के बुजुर्ग की हुई। इसके बाद 10वीं मौत 13 साल की बच्ची की हुई। उसे निमोनिया की शिकायत थी।
इसके बाद 11वीं मौत टोंक में 60 साल के बुजुर्ग की हुई। वहीं 12वीं मौत जयपुर रामगंज की रहने वाली एक 65 साल की बुजुर्ग की हुई। जिसके बाद 13वीं मौत कोटा में रहने वाली 70 साल की महिला की हुई। वहीं 14वीं मौत भट्टा बस्ती में 65 साल का बुजुर्ग की हुई। जो शहीद इंद्रा ज्योति नगर का रहने वाला था। 11 अप्रैल को आईसीयू में एडमिट था। जो एक दिन पहले पॉजिटिव आया था। जिसकी बुधवार देर रात मौत हो गई। इसके दो बेटे भी आइसोलेशन में भर्ती है। जिसके 16 अप्रैल को सुपुर्दे खाक किया गया। 
पंद्रहवी मौत जोधपुर में 53 साल के कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति की हुई। प्रदेश में 16वीं मौत एक 22 साल के लड़के की हुई। जो जयपुर के गुल्जार मस्जिद घाटगेट का रहने वाला था। जिसके बाद 17वीं मौत भी जयपुर में हुई। वहीं 18वीं मौत 76 साल के बुजुर्ग की एसएमएस अस्पताल में हुई। साथ ही 19वीं मौत जयपुर में 47 साल के युवक की हुई। 
20वीं वहीं जयपुर के तेलीपाड़ा निवासी एक 48 साल की महिला की मौत हो गई थी। जिनकी रिपोर्ट मौत के बाद पॉजिटिव मिली। 21वीं मौत शास्त्री नगर में एक 53 साल के बुजुर्ग की हुई।  वहीं 22वीं मौत राजपार्क गली नंबर 1 निवासी 62 साल के एक व्यक्ति की हो गई। जो सीके बिड़ला में भर्ती थे। वहीं 23वीं मौत एक 65 साल के व्यक्ति की हुई। जो गलता गेट के रहने वाले थे। उन्हे 11 अप्रैल को पॉजिटिव आने के बाद एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जिसके बाद 24वीं मौत नागौर की रहने वाली 62 साल की बुजुर्ग की हुई। जिन्हे 18 अप्रैल को एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। 19 अप्रैल की सुबह उनकी मौत हो गई। जिसकी रिपोर्ट आज पॉजिटिव आई। वहीं 25वीं मौत कोटा में 65 साल की महिला की हुई। जानकारी अनुसार महिला को 19 अप्रैल को मृत अवस्था में अस्पताल लाया गया था। जिनकी रिपोर्ट 20 अप्रैल को पॉजिटिव पाई गई। 
26वीं मौत रामगंज में रहे वाले एक 64 साल के बुजुर्ग की हुई। जिसे 18 अप्रैल को भर्ती करवाया गया था। बुजुर्ग को अस्थमा की बीमारी थी। 27वीं मौत भरतपुर जिले के पथेना भुसावर में हुई। जहां महिला की एसएमएस जयपुर में मौत और गांव में अंतिम संस्कार के बाद कोरोना वायरस की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। राज्य में 28वीं मौत लक्ष्मणगढ़ के रहने वाले एक बुजुर्ग की हुई। जिसकी रिपोर्ट मौत के बाद पॉजिटिव पाई गई। 29वीं मौत जयपुर जिले के जमवारामगढ़ के रहने वाले 75 साल के बुजुर्ग की हुई। 30वीं मौत जयपुर के रामगंज में 60 साल के व्यक्ति की हुई। जो 22 अप्रैल को एसएमएस में भर्ती करवाए गए थे। 23 अप्रैल को रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। इसी दौरान उनकी मौत हो गई। 
31वीं मौत जयपुर के एमडी रोड पर रहने वाले 60 साल के व्यक्ति की हुई। जो एसएसएस की इमरजेंसी में भर्ती थे। जिनकी मौत 23 अप्रैल को हो गई थी। जिसके बाद रिपोर्ट पॉजिटिव आई। 32वीं मौत जयपुर के आदर्श नगर में रहने वाली 75 साल की महिला की हुई। जो 18 अप्रैल को एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाई गई थीं। 21 अप्रैल को रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वहीं 24 अप्रैल को मौत हो गई। वहीं राज्य में 33वीं मौत जयपुर रामगंज में रहने वाली 65 साल की बुजुर्ग महिला की हुई। 34वीं मौत कोटा में 32 साल के युवक की हुई। जिसके कई और बीमारियां भी थीं।
35वीं मौत जोधपुर में एक 65 वर्षीय कोरोना संक्रमित की हुई। साथ ही 36वीं मौत जोधपुर में एक 60 वर्षीय महिला की हुई। 37वीं मौत जयपुर में एक 50 साल के व्यक्ति की हुई। जिनकी मौत 25 अप्रैल को हो गई थी। 26 को रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। 38वीं मौत जयपुर घाटगेट निवासी 55 साल की महिला की हुई। जो 24 अप्रैल को मृत्यू होने के बाद अस्पताल लाई गईं थी। जिसके बाद रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। वहीं 39वीं सीकर के 29 साल के युवक की रिकॉर्ड की गई। जिसे 21 अप्रैल को एसएमएस में भर्ती करवाया गया था। 24 अप्रैल को युवक की मौत हो गई थी। 40वीं मौत जोधपुर में 65 साल की महिला की हुई। जो 25 अप्रैल को पॉजिटिव पाई गई। जिनकी 26 अप्रैल को मौत हो गई।
41वीं मौत उत्तरप्रदेश के रहने वाले 16 साल के बच्चे की हुई। जो 25 मार्च से अस्पताल में भर्ती था। जो 26 अप्रैल को पॉजिटिव पाया गया। इसी दिन बच्चे की मौत हो गई। 42वीं मौत सूरजपोल के रहने वाले 28 साल के युवक की हुई। जिसे 24 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। 43वीं मौत हीदा की मोरी की रहने वाली 62 साल की महिला की हुई। वहीं 44वीं मौत हाजी कॉलोनी की 24 साल की लड़की की हुई। जिसकी डिलिवरी के दौरान मौत हो गई थी। रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। 45वीं मौत भरतपुर जिले के हिसामडा तहसील वैर की रहने वाली 20 वर्षीय एक गर्भवती महिला की प्रसव के दौरान हुई। जिसका रिपोर्ट मौत के बाद पॉजिटिव पाई गई। बच्चा भी मृत अवस्था में पैदा हुआ।
46वीं मौत जयपुर लुणियावास निवासी 38 साल के व्यक्ति की हुई। वहीं 47वीं मौत जोधपुर में नई सड़क निवासी 56 वर्षीय बुजुर्ग की हुई। वहीं 48वीं मौत जयपुर जिले के शाहपुरा में 44 साल की महिला की हुई। वहीं 49वीं मौत कोटा में 70 साल के बुजुर्ग व्यक्ति की हुई। वहीं 50वीं मौत जयपुर में हुई।
51वीं मौत कोटा में एक 60 साल के बुजुर्ग व्यक्ति की मौत भी हो गई। जिन्हे 27 अप्रैल को भी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। 
अप्रैल के वेतन में मिलने वाले 15 दिन के लीव एनकैशमेंट पर रोक

राज्य सरकार ने अप्रैल के वेतन में मिलने वाले 15 दिन के लीव एनकैशमेंट के बिलों के भुगतान पर रोक लगा दी है। राज्य कर्मचारियों को मार्च और जुलाई में इंक्रीमेंट की तिथि के हिसाब से 15 दिन की लीव एनकैशमेंट दी जाती है। इसमें कर्मचारियों का 15 दिन का मूल वेतन और डीए शामिल होता है। राज्य सरकार की ट्रेजरियों में ये बिल पास तो कर दिए गए लेकिन अब इनके भुगतान पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है।

एफएसएल ने एसएमएस को दी 2 मशीनें, एक घंटे में होंगी 96 जांचें

कोरोना की जांच में तेजी लाने के लिए अब एसएसएल की मशीनों को भी उतार दिया गया है। डीएनए व आरएनए को आइसोलेट करने वाली ये दो न्यूक्लिक एसिड एक्सट्रैक्टर सवाई मानसिंह अस्पताल को सौंप दी गई है। जहां कोरोना मरीजों के सैंपल की जांच की जा रही है। मशीनें लेटेस्ट वर्जन वाली हैं। इनके जरिए एक मशीन से बार में एक साथ 48 सैंपल की जांच की जा सकती है। यही नहीं एफएसएल में दो और मशीनों के सॉफ्टवेयर में बदलाव किया जा रहा है। ताकि, वे भी एसएमएस को दी जा सकें।