ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
गायिका कनिका कपूर Corona रोगियों को देंगी प्लाज्मा
April 27, 2020 • Rashtra Times

लखनऊ। मशहूर बॉलीवुड गायिका और कोराना से पीड़ित होने के बाद ठीक हुईं कनिका कपूर ने सोमवार को कोरोना रोगियों के इलाज के लिए अपना प्लाज्मा देने का फैसला किया। इसके लिए उन्होंने सोमवार शाम को किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में अपना रक्त परीक्षण के लिए दिया। अगर उनके परीक्षण ठीक आए तो सोमवार या मंगलवार सुबह उनका 500 मिली प्लाज्मा केजीएमयू के डॉक्टर निकालेंगे। केजीएमयू की ब्लड ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन विभाग की अध्यक्ष डॉ. तूलिका चंद्रा ने सोमवार को बताया कि गायिका कनिका कपूर ने सोमवार को संस्थान के डॉक्टरों से अपना प्लाज्मा दान करने की इच्छा जताई। इसके बाद उन्हें बुलाकर
परीक्षण के लिए उनके रक्त के नमूने लिए गए।

रक्त परीक्षण में सब कुछ ठीक पाए जाने के बाद उन्हें सोमवार शाम या मंगलवार सुबह प्लाज्मा दान करने के लिए बुलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि अभी तक केजीएमयू में कोरोना से ठीक हुए तीन मरीज अपना प्लाज्मा दान कर चुके हैं। इनमें एक रेजीडेंट डॉक्टर तौसीफ खान, एक कनाडा की महिला डॉक्टर तथा एक अन्य रोगी शामिल है। कनिका कपूर चौथी कोरोना से ठीक हुई रोगी होंगी, जो अपना प्लाज्मा केजीएमयू को दान करेंगी।
रविवार शाम राजधानी के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में किसी कोरोना रोगी पहली बार प्लाज्मा थैरेपी दी गई। यह रोगी उरई के एक 58 वर्षीय डॉक्टर हैं जिनको प्लाज्मा दान करने वाली भी कनाडा की एक महिला डॉक्टर है जो कि पहली कोरोना रोगी थी, जो यहां केजीएमयू में भर्ती हुई थी।

केजीएमयू के डॉक्टरों के मुताबिक रविवार देर शाम उरई के इन कोरोना रोगी डॉक्टर को प्लाज्मा की 200 मिली डोज दी गई है। इनकी स्थिति पर नजर रखी जा रही है। अगर आवश्यकता पड़ी तो इन्हें आज (सोमवार) या मंगलवार को दूसरी डोज दी जाएगी।

उल्लेखनीय है कि मशहूर गायिका कनिका कपूर 10 मार्च को लंदन से मुंबई आई थीं और 11 मार्च को अपने परिजनों से मिलने लखनऊ आई थीं। गत 14 और 15 मार्च को लखनऊ में आयोजित कुछ पार्टियों में कनिका ने शिरकत की थी। इनमें उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह, राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया और उनके सांसद पुत्र दुष्यंत सिंह समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। कनिका कपूर ने कहा था कि 17 और 18 मार्च को कुछ लक्षणों का एहसास हुआ तो उन्होंने अपनी जांच का अनुरोध किया। वह 19 मार्च को कोरोना संक्रमित पाई गईं और 20 मार्च को जब उन्हें इस बारे में पता चला, तो उन्होंने अस्पताल जाना बेहतर समझा। कनिका को लखनऊ स्थित एसजीपीजीआई में भर्ती किया गया था और तीन नेगेटिव रिपोर्ट आने के बाद गत 6 अप्रैल को उन्हें छुट्टी दे दी गई थी।