ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
गावस्कर का सुझाव- इस बार भारत में टी-20 वर्ल्ड कप और अगले साल ऑस्ट्रेलिया में टूर्नामेंट होना चाहिए
April 21, 2020 • Rashtra Times

नई दिल्ली. कोरोनावायरस (कोविड-19) के कारण खेल जगत में जून तक होने वाले लगभग सभी टूर्नामेंट्स को टाला या रद्द किया जा चुका है। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया है। जबकि ऑस्ट्रेलिया में अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप पर खतरा मंडरा रहा है। ऐसे में पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने सुझाव दिया है। उन्होंने कहा कि अदला-बदली करके इस बार टी-20 वर्ल्ड कप भारत में, जबकि अगले साल यह टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलिया में  कराया जाना चाहिए। 2021 वर्ल्ड कप की मेजबानी भारत को मिली है।

गावस्कर ने कहा, ‘‘इस समय, हम सभी जानते हैं ऑस्ट्रेलिया ने 30 सितंबर तक विदेशी लोगों के प्रवेश पर रोक लगा रखी है। टूर्नामेंट (टी-20 वर्ल्ड कप) अक्टूबर के मध्य या तीसरे सप्ताह से शुरू होगा, इसलिए यह इस समय मुश्किल लग रहा है। अगले साल टी-20 वर्ल्ड कप भारत में होना है। दोनों देश एक करार पर पहुंच सकते हैं और वर्ल्ड कप मेजबानी की अदला-बदली कर सकते हैं। ऐसे में होगा यूं कि इस साल अक्टूबर-नवंबर में भारत में टी-20 वर्ल्ड कप होगा, जबकि अगले साल अक्टूबर- नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में वर्ल्ड कप होगा।’’

वर्ल्ड कप से पहले आईपीएल होना मुश्किल

गावस्कर ने कहा, ‘‘यदि ऐसा होता है तो आईपीएल टी-20 वर्ल्ड कप से पहले किया जा सकता है। इससे वर्ल्ड कप के लिए प्रैक्टिस भी हो जाएगा।’’ हालांकि, गावस्कर का यह सुझाव सिर्फ कहने में ही ठीक लगेगा, वास्तविकता में संभव होना मुश्किल है। क्योंकि टीम इंडिया को जून-जुलाई में श्रीलंका से उसी के घर में 3 वनडे और 3 टी-20 की सीरीज खेलनी है। सितंबर में एशिया कप भी होना है। इसके बाद अगस्त में जिम्बाब्वे दौरे पर 3 वनडे खेलने हैं। भारतीय टीम अगस्त के तीसरे हफ्ते से लेकर 15 नवंबर तक व्यस्त रहेगी। इस दौरान केवल 7 दिन का गैप रहेगा। यदि बीसीसीआई आईपीएल को वर्ल्ड कप से पहले कराने के लिए एक तरफा फैसला लेकर इन सीरीज को रद्द करता है, तो आईसीसी उसके खिलाफ कार्रवाई कर सकता है।

मानसून फैक्टर

भारत में मानसून सीजन 1 जून से 30 सितंबर तक होता है। हालांकि, इस पैटर्न में बदलाव देखा जा रहा है। देश के ज्यादातर हिस्सों में यह 15 जून तक ही सक्रिय हो पाता है। यही वजह है कि आईएमडी कुछ राज्यों की संभावित मानसून तारीखों में बदलाव पर विचार कर रहा है। मौसम संबंधी जानकारी देने वाली अमेरिकी कंपनी ‘वेदर’ के मुताबिक, इस बार मानसून 30 मई तक केरल के तट से टकराएगा। अल नीनो की बजाए ला नीना की स्थितियां बनेंगी। लगातार दूसरी साल सामान्य से ज्यादा बारिश होगी। आईपीएल के संदर्भ में बात करें तो मानसून को देखते हुए जून से मध्य अक्टूबर तक इसका भारत में होना लगभग नामुमकिन है।