ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
दिल्ली सरकार ने प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन नाम बदलकर सुप्रीम कोर्ट मेट्रो स्टेशन किया
January 1, 2020 • Rashtra Times

नयी दिल्ली। दिल्ली सरकार की नामकरण समिति ने प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन का नाम बदलकर सुप्रीम कोर्ट मेट्रो स्टेशन करने का मंगलवार को फैसला किया। इस बाबत घोषणा करते हुए दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि समिति ने अपनी बैठक में मुकरबा चौक और इसके फ्लाईओवर का नाम करगिल युद्ध में शहीद हुए कैप्टन विक्रम बत्रा के नाम पर रखने और एमबी रोड का नाम आचार्य श्री महाप्रज्ञ मार्ग करने का भी निर्णय किया। 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, '' मुझे यह बताते हुए बेहद खुशी हो रही है कि दिल्ली सरकार ने मुकरबा चौक और फ्लाईओवर का नाम शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा जी के नाम पर रखने का फैसला लिया है। हमारे शहीदों की कुर्बानी से ही ये देश बना है... जय हिंद।'' कैप्टन विक्रम बत्रा 1999 में करगिल युद्ध के दौरान पाकिस्तानी सैनिकों के साथ लड़ते हुए शहीद हो गए थे। उन्हें उनकी वीरता के लिए परमवीर चक्र दिया गया है। सिसोदिया ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, '' मुकरबा चौक और फ्लाईओवर का नाम बदलकर शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा रखा गया है। शहीद के माता-पिता ने इसकी गुजारिश की थी, ताकि लोग प्रेरित हो सकें।'' उपमुख्यमंत्री ने बताया कि लाजपत नगर फ्लाईओवर का नाम बदलकर झूलेलाल सेतु रखा गया है। उन्होंने कहा कि प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन का नाम बदलकर सुप्रीम कोर्ट मेट्रो स्टेशन रखने का भी अनुरोध था। सिसोदिया ने कहा, '' नामकरण समिति ने प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन का नाम बदलने का फैसला किया है। दिल्ली मेट्रो को जरूरी बदलाव करने होंगे जिसमें तकरीबन एक महीना लगेगा।'' समिति ने एमजी रोड का नाम बदलकर आचार्य तुलसी मार्ग कर दिया है। इसके अलावा रानीबाग गोल चक्कर का नाम महर्षि दयानंद चौक और शक्तिनगर चौक का नाम भगवान महावीर चौक कने का फैसला किया है। सिसोदिया ने यह कहते हुए नाम बदलने का बचाव किया कि ऐसा स्थानीय लोगों की मांग पर किया गया है।