ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
DDU में पोस्टमार्टम, दोषी मुकेश के शरीर के अंग दान किए जाएंगे
March 20, 2020 • Rashtra Times

नई दिल्ली। गैंगरेप और निर्मम हत्या के 7 साल बाद आखिरकार शुक्रवार सुबह निर्भया को इंसाफ मिल ही गया। उसके चारों दोषियों अक्षय, मुकेश, पवन और विनय का आज सुबह साढ़े 5 बजे फांसी दे दी गई। मामले से जुड़ी हर जानकारी...
- निर्भया मामले के चारों दोषियों को फांसी दिए जाने के बाद कुछ घंटे बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि आज का दिन यह संकल्प लेने का दिन है कि हम अब और कोई निर्भया कांड नहीं होने देंगे।
- निर्भया के दोषी मुकेश के शरीर के अंग दान किए जाएंगे। बाकी तीन दोषियों के शव पोस्टमार्टम के बाद परिवार को सौंप दिए जाएंगे।
- दोषियों के शव पोस्टमार्टम के लिए दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल लाए गए।
- राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने शुक्रवार को कहा कि आखिरकार न्याय मिलने के बाद निर्भया की आत्मा को शांति मिली होगी और उम्मीद है कि सामूहिक दुष्कर्म तथा हत्या के इस बर्बर मामले के चारों दोषियों की फांसी दूसरों को ऐसा अपराध करने से रोकने का काम करेगी।
- सुबह 8.30 पर होगा शवों का पोस्टमार्टम।

- जेल प्रशासन ने पुलिस को सौंपे शव, कुछ ही देर में होगा पोस्टमार्टम।

- शव ले जाने के लिए 2 एंबुलैंस मंगाई गई। पुलिस को शव सौंपने की प्रक्रिया जारी।
- निर्भया के मोहल्ल में भी मना जीत का जश्न।
- चारों दोषियों के शवों को फंदों से उतारा गया।
- डॉक्टरों ने चारों दोषियों को मृत घोषित किया।
- डॉक्टरों की पुष्‍टि के बाद चारों के शवों को लोकल पुलिस को हेंडओवर ‍किया जाएगा। इसके बाद दीनदयाल अस्पताल में पोस्टमार्टम किया जाएगा।
- फांसीघर में शवों की जांच के लिए पहुंचे डॉक्टर।
- जेल के बाहर उमड़ी भीड़। हाथों में तिरंगा, चेहरे पर दिखी खुशी।

- निर्भया की मां ने फांसी के बाद विक्ट्री लाइन दिखाया। उन्होंने कहा कि आज फाइनली इंसाफ मिल गया।
- निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि देर से ही सही निर्भया को इंसाफ मिला। बेटी को बचा नहीं पाई लेकिन इंसाफ दिलाया। देश की बेटियों के लिए संघर्ष किया। परिवार खुशी या उत्सव नहीं मनाएगा।
- आशादेवी ने उन सभी लोगों को धन्यवाद दिया जिन्होंने इस लड़ाई में उनका साथ दिया। उन्होंने कहा कि डरने की और शर्माने की हमें जरूरत नहीं है। जो क्राइम करता है उन्हें शरमाना चाहिए।
- न्याय के लिए हमारा इंतजार बेहद पीड़ादायी था : दोषियों को फांसी के बाद निर्भया के पिता ने कहा।
- करीब 30 मिनट से तक चारों शव तख्ते पर लटके रहेंगे। 6 बजे डॉक्टर इनकी बॉडी की जांच करेंगे। फिर जेल सुपरिंटेंडेंट ब्लैक वारंट पर साइन करेंगे कि चारों को फांसी दे दी गई है। इसके बाद डेथ सर्टिफिकेट अटैच कर वापस ब्लैक वारंट कोर्ट जाएगा की आदेश का पालन हुआ।
- निर्भया को मिला इंसाफ, दोषियों को फांसी।
- फांसी से पहले SC और HC ने खारिज की दोषियों की याचिका।
- 20 मार्च को मनाया जाएगा निर्भया दिवस।
- गौरतलब है कि दिल्ली में 23 साल की छात्रा के साथ 16 दिसंबर 2012 की रात को एक चलती बस में बर्बरता के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था। इस घटना के करीब 15 दिन बाद पीड़िता की सिंगापुर के एक अस्पताल में मौत हो गई थी। इस घटना ने देश को हिला दिया था। पीड़िता को को निर्भया नाम से जाना गया।
- 5 मार्च को एक निचली अदालत ने मुकेश सिंह (32), पवन गुप्ता (25), विनय शर्मा (26) और अक्षय कुमार सिंह (31) को 20 मार्च को सुबह 5.30 बजे फांसी देने के लिए नया मृत्यु वॉरंट जारी किया था। सभी दोषी अपने सभी कानूनी और संवैधानिक विकल्पों का इस्तेमाल कर चुके हैं और उनके बचने के लगभग सभी रास्ते बंद हो चुके थे।