ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने दी चेतावनी, हो सकता है कि कोरोना वायरस की वैक्सीन कभी न बने
May 12, 2020 • Rashtra Times

लंदन ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने चेतावनी दी है कि कोरोना वायरस के लिए एक टीके को बनाने में एक साल से अधिक का समय लग सकता है और सबसे खराब स्थिति में, ऐसा भी हो सकता है कि यह टीका कभी बन ही न पाए।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने और लॉकडाउन में चरणबद्ध तरीके से दी जाने वाली छूट को लेकर 50-पन्नों की एक गाइडलाइन पेश की है। इसके तहत कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए  धीरे-धीरे व्यवसायों को वापस से शुरू करने का प्लान है।
इस मिशन को लेकर ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और इंपीरियल कॉलेज लंदन के वैज्ञानिकों की तरफ से ब्रिटेन में किए जा रहे काम के बारे में बताते हुए जॉनसन ने कहा कि मास वैक्सीन या उपचार में अभी एक साल से भी अधिक समय लग सकता है।
प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन कहा, "वास्तव में, सबसे खराब स्थिति में, हम कभी वैक्सीन न बना पाएं। ऐसे में हमारी योजना को एक ऐसी स्थिति का सामना करना होगा जहां हम इस स्थिति में हैं, साथ में, लंबी दौड़ के लिए, यहां तक कि सभी करते हुए भी हम इस परिणाम से बच सकते हैं।"

यह मानते हुए कि एक वैक्सीन या ड्रग-आधारित उपचार एकमात्र संभव दीर्घकालिक समाधान है, उन्होंने कहा कि ब्रिटेन में वैक्सीन विकास कार्यक्रमों और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और फार्मा प्रमुख एस्ट्राजेनेका के बीच सहयोग एक बड़ा कदम है, जो कोरोना वायरस महामारी की वैक्सीन को बनाने में तेजी से मदद कर सकता है।

रविवार की रात राष्ट्र को दिए गए एक संबोधन और सोमवार को संसद में एक बयान के बाद, गाइडलाइन बुधवार से पूरे इंग्लैंड में सार्वजनिक जीवन में लागू हो जाएगा, जब लोगों को दूसरे लोगों के साथ वन-टू-वन कॉन्टैक्ट की अनुमति दी जाएगी। जब तक वे बाहर रहेंगे और दो मीटर अलग रहेंगे।