ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
भाजपा विधायक का सिंधिया को पत्र, पितरेश्वर हनुमानजी की प्राण-प्रतिष्ठा में आएं, आपको अन्याय से लड़ने और जीतने की शक्ति मिलेगी
February 17, 2020 • Rashtra Times

इंदौर. कांग्रेस में मचे घमासान के बीच भाजपा के इंदौर- 2 नंबर से विधायक रमेश मेंदोला ने सिंधिया को पत्र लिखकर पितरेश्वर हनुमान धाम के प्राण-प्रतिष्ठा समारोह में शामिल हाेने का आग्रह किया है। मेंदोला ने पत्र में लिखा- मुख्यमंत्री द्वारा सार्वजनिक तौर पर आपके साथ जैसा व्यवहार किया गया, वह दुखद और पीड़ादायी है। हनुमानजी सबके दुख और पीड़ा को हर लेते हैं। यहां आने से हनुमानजी आपको आपके साथ हो रहे अन्याय से लड़ने और जीतने की शक्ति प्रदान करेंगे।

यह है पूरा पत्र
मेंदोला ने लिखा - ‘कांग्रेस के वचन पत्र की याद दिलाने पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मीडिया के माध्यम से सार्वजनिक तौर पर आपके साथ जैसा व्यवहार किया वो दुखद और पीड़ादायी है। उससे आपकी पीड़ा का अंदाजा लगाया जा सकता है। हनुमानजी को कलयुग का जागृत देव माना जाता है। हनुमानजी सबके संकट और पीड़ा को हर लेते हैं। हनुमान चालीसा भी यही कहता है। संकट कटे मिटे सब पीरा... जो सुमरे हनुमत बलबीरा ...। मुझे विश्वास है कि पीड़ा के इन क्षणों में हनुमानजी की भक्ति आपको शक्ति और साहस देगी। इस पत्र के माध्यम से मैं आपको पितरेश्वर हनुमान धाम के प्राण-प्रतिष्ठा समारोह में आमंत्रित करता हूं। भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के संकल्प के अनुरूप यहां अष्टधातु से निर्मित हनुमानजी की विश्व की सबसे भव्य और विराट प्रतिमा स्थापित की गई है। इस विराट प्रतिमा के समक्ष साधु-संतों के सानिध्य में सुंदरकांड या अनुमान चालीसा का पाठ आपको अपनी पार्टी से मिली चुनौती को पूरा करने और आपकी पार्टी में आपके साथ हो रहे अन्याय से लड़ने और जीतने की शक्ति देगा। आयोजन 14 फरवरी से शुरू हुआ है, जो 3 मार्च तक चलेगा। मेरी ओर से आपको औपचारिक आमंत्रण पत्र है। यह आमंत्रण बहुत शुभ भाव से प्रेषित है, इसका राजनीति या कोई और अर्थ मत तलाशिएगा।’

क्यों मचा है कांग्रेस में धमासान?
13 फरवरी को टीकमगढ़ में अतिथि शिक्षकों के एक कार्यक्रम में सिंधिया ने कहा था कि वचन पत्र हमारे लिए ग्रंथ है और इसका एक-एक वाक्य पूरा न हुआ तो खुद को सड़क पर अकेला मत समझना। मैं भी सड़क पर उतरूंगा। उनके इस बयान को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शनिवार को कहा था- तो उतर जाएं। रविवार देर रात ग्वालियर आए सिंधिया ने जवाब देते हुए कहा कि मैं जनसेवक हूं और जनता के मुद्दों के लिए लड़ना मेरा धर्म है। मैंने पहले भी कहा है कि सब्र रखना है, क्योंकि अभी एक साल हमें प्रदेश की सत्ता में हुआ है। लेकिन, लोगों से किए गए हर वचन को पूरा करना हमारी जिम्मेदारी है और इसे पूरा करना होगा। वचन पूरे न होने की स्थिति में हम बिल्कुल सड़क पर उतरेंगे। वहीं] मंत्री इमरती देवी बोलीं- सिंधिया के साथ पूरी कांग्रेस सड़कों पर उतरेगी।

प्रदेश की सबसे ऊंची हनुमान प्रतिमा
इंदौर में पितृ पर्वत पर प्रदेश की सबसे ऊंची 66 फीट की हनुमान प्रतिमा सोना-चांदी, तांबा, जस्ता, सीसा, कैडियम जैसे अष्ट धातु से बनी है। इस प्रतिमा पर लगभग 11 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं। मूर्तिकार प्रभात रॉय के मुताबिक, मूर्ति का वजन करीब 108 टन है। इसमें 9 टन की गदा और 3 टन की उनकी छतरी है। इस छतरी पर 9 इंच आकार में 108 बार राम नाम गुदा हुआ है। हनुमानजी के हाथ में जो मंजीरे हैं, उनकी लंबाई 11 फीट है। भगवान राम की भक्ति में बैठे हनुमान की इस प्रतिमा के साथ 15 बाय 12 फीट की रामकथा भी तैयार की गई है।