ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
अयोध्या में कब्रिस्तान पर नहीं बने राममंदिर, मुस्लिमों ने राममंदिर ट्रस्ट से अपील
February 19, 2020 • Rashtra Times

अयोध्या में राममंदिर निर्माण के लिए गठित राममंदिर ट्रस्ट की आज पहली बैठक दिल्ली में होगी। बैठक में ट्रस्ट के कामकाज की रुपरेखा तय करने के साथ ही मंदिर निर्माण के शिलान्यास की तारीख पर मंथन होगा। एक ओर राममंदिर निर्माण की तारीख पर मंथन हो रहा है तो दूसरी ओर अयोध्या के नौ मुस्लिमों ने राममंदिर ट्रस्ट को पत्र लिख एक अजीबोगरीब मांग की है। पत्र में मांग की गई है कि है कि रामलला के गर्भगृह के निकट स्थित 5 एकड़ जमीन पर मुसलमानों की क्रबगाह थी इसलिए वहां पर राममंदिर का निर्माण न किया जाए।

मुस्लिमों की इस मांग को लेकर बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे हाजी महबूब कहते है राममंदिर ट्रस्ट को सौंपी गई जमीनों पर कुछ जगहों पर कब्रिस्तान है इसलिए हमने पत्र के माध्यम से अपील की है कि कब्रिस्तान छोड़क मंदिर बनाया जाए।
हालांकि हाजी महबूब कहते हैं कि अगर राममंदिर ट्रस्ट उनकी मांगों को नहीं मानता है तो भी उनको कोई एतराज नहीं है, हमने अपनी मांग रख दी है अब जैसा ट्रस्ट को करना हो करे। सुप्रीम कोर्ट में वकील एमआर शमशाद ने मुस्लिमों की इस मांग को लेकर राममंदिर जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के सभी ट्रस्टियों को पत्र लिखा है।


वहीं मुस्लिमों के इस मांग का अयोध्या के साधु संत खड़ा विरोध किया है। रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने राममंदिर के लिए अधिग्रहित जमीन में कब्रिस्तान होने
के मुस्लिमों के दावे का विरोध करते हुए कहा कि वहां पर कोई भी कब्रिस्तान नहीं था और न ही वहां की जमीन पर मुस्लिमों का कोई अधिकार था। वहीं अयोध्या जिला प्रशासन भी मुस्लिमों के इस दावे को सिरे से खारिज करता है कि अधिग्रहित में कोई कब्रिस्तान था।