ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
अब तक 8 हजार 990 मामले: दो महानगर दिल्ली और मुंबई सबसे ज्यादा प्रभावित, दोनों ही शहरों में संक्रमितों की संख्या एक हजार से ज्यादा
April 12, 2020 • Rashtra Times

नई दिल्ली. देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 8 हजार 990 हो गई। रविवार को महाराष्ट्र में 134, तमिलनाडु में 106, राजस्थान में 96 और मध्यप्रदेश में 33 मामले सामने आए। वहीं, गुजरात में 25, कर्नाटक में 48 और पश्चिम बंगाल में 8 मरीज मिले। ये आंकड़े covid19india.org वेबसाइट और राज्य सरकारों के आंकड़ों के अनुसार हैं। वहीं, स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, रविवार शाम 5 बजे तक देश में 8 हजार 447 लोग संक्रमित हैं। इनमें से 7 हजार 409 का इलाज चल रहा है। 764 ठीक हुए हैं और 273 की मौत हो चुकी है। इधर, न्यूज एजेंसी ने रिपोर्ट्स के हवाले से बताया है कि देश में अब तक मेडिकल प्रोफेशन से जुड़े करीब 90 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इनमें डॉक्टर्स, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ शामिल हैं।

इधर, स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को बताया कि देश में कोरोना संक्रमण के जो केस हैं, उनमें से केवल 20% मामले ऐसे हैं, जिनमें आईसीयू सपोर्ट की आवश्यकता है। मंत्रालय ने कहा कि 80% मामलों में संक्रमण के बेहद हल्के लक्षण हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में अब 8356 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं। मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि आज अगर हमें 1671 बिस्तरों की जरूरत है, तो हमारे पास एक लाख पांच हजार बेड हैं। 601 अस्पतालों में केवल कोरोना संक्रमितों का इलाज किया जा रहा है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने बताया कि देश में कोरोना की 40 वैक्सीन पर काम जारी है, लेकिन अभी की कंडीशन यह है कि हमारे पास कोरोना की कोई दवा नहीं है।

पांच दिन जब संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले आए

दिनमामले
10 अप्रैल871
11 अप्रैल854
9 अप्रैल813
5 अप्रैल605
4 अप्रैल579

25 राज्यों और 7 केंद्र शासित प्रदेशों में फैला संक्रमण

कोरोनावायरस अब तक देश के 25 राज्यों में पैर पसार चुका है। वहीं, देश के सात केंद्र शासित प्रदेश (यूटी) में भी यह संक्रमण पहुंच चुका है। इनमें दिल्ली, चंडीगढ़, अंडमान-निकोबार, दादरा एवं नगर हवेली, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और पुडुचेरी शामिल हैं।

राज्य/यूटीकितने संक्रमितकितनी मौतकितने ठीक हुए
महाराष्ट्र1895129208
तमिलनाडु10751050
दिल्ली10691927
तेलंगाना5031496
राजस्थान7969116
मध्यप्रदेश5624441
उत्तरप्रदेश480545
आंध्रप्रदेश420612
केरल3753179
गुजरात5162344
कर्नाटक232647
जम्मू-कश्मीर24446
हरियाणा195444
पंजाब1701223
पश्चिम बंगाल134719
बिहार64126
ओडिशा54112
उत्तराखंड3505
असम2910
हिमाचल प्रदेश3229
चंडीगढ़2127
छत्तीसगढ़25010
लद्दाख15011
झारखंड1720
अंडमान-निकोबार11010
गोवा705
पुडुचेरी701
मणिपुर201
अरुणाचल प्रदेश100
दादरा एवं नगर हवेली100
मिजोरम100
त्रिपुरा200
    

ये आंकड़े covid19india.org वेबसाइट के अनुसार हैं। वहीं, स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, रविवार शाम 5 बजे तक देश में 8 हजार 447 लोग संक्रमित हैं। इनमें से 7 हजार 409 का इलाज चल रहा है। 764 ठीक हुए हैं और 273 की मौत हो चुकी है।

7 राज्य और 2 केंद्र शासित प्रदेशों के हाल

  • पंजाब, संक्रमित- 170: राज्य में रविवार को संक्रमण के 12 नए मामले मिले। वहीं, लॉकडाउन के बीच पास मांगने पर रविवार को एक निहंग ने एक पुलिस अधिकारी की कलाई काट दी। इसके बाद पुलिस ने कमांडो ऑपरेशन चलाकर इन्हें पकड़ा। पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि एसएसआई का ऑपरेशन सफल रहा है। डॉक्टरों की टीम ने कलाई को वापस जोड़ दिया है। चंडीगढ़ पीजीआई के मुताबिक, डॉक्टरों की टीम को कलाई को जोड़ने में तीन घंटे से ज्यादा लंबा ऑपरेशन करना पड़ा।
  • महाराष्ट्र, संक्रमित- 1895: यहां रविवार को 134 कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आईं। इनमें से मुंबई में 113, मीरा भयंदर में 7, पुणे में 4, नवीं मुंबई, ठाणे और वसई विरार में 2-2, जबकि रायगढ़, अमरावती, भिवंडी और पिंपरी-चिंचवड़ में 1-1 मरीज मिला। राज्य में शनिवार को 187 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आईं थी।
  • मध्यप्रदेश, संक्रमित- 562: यहां रविवार 33 नए मामले सामने आए। इनमें से इंदौर और भोपाल में सबसे ज्यादा मरीज मिले। इंदौर में अब संक्रमितों की संख्या 298 और भोपाल में 134 हो गई है। इंदौर में कोराना से आज 2 और भोपाल में 1 मौत दर्ज की गई। इंदौर में दोनों मौत पहले हुई थीं, रिपोर्ट रविवार को पॉजिटिव आई। दोनों की उम्र 65 और 70 साल थी। भोपाल में रविवार को जान गंवाने वाले मरीज की उम्र 77 साल थी। वे डायबिटिक थे।
  • उत्तरप्रदेश, संक्रमित- 480: राज्य में रविवार को 28 नए मामले सामने आए। यहां कुल संक्रमितों में से 264 तब्लीगी जमात से संबंधित हैं। शनिवार को बहराइच में 21 जमातियों का क्वारैंटाइन का समय खत्म होने के बाद उन्हें जेल भेज दिया गया। इनमें इंडोनेशिया और थाईलैंड के नागरिक भी शामिल हैं। इस बीच, राज्य सरकार ने रामपुर से सपा सांसद आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी को अपने कब्जे में ले लिया है। यहां क्वारैंटाइन सेंटर बनाया जाएगा।
  • राजस्थान, संक्रमित 796: यहां रविवार को 96 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें से जयपुर में 35, बांसवाड़ा में 15, टोंक में 11, बीकानेर, और जोधपुर में 8-8, कोटा में 7, नागौर में 5, हनुमानगढ़ में 2, जबकि चूरू, जैसलमेर और सीकर 1-1 मरीज मिले हैं। 2 मरीज राज्य से बाहर के हैं। राज्य में शनिवार को एक दिन में सबसे ज्यादा 139 नए लोग पॉजिटिव मिले थे। इनमें से जयपुर में 80 रिपोर्ट पॉजिटिव थीं। 
  • बिहार, संक्रमित- 64: पटना मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल से शनिवार को 72 साल की कोरोना संक्रमण की संदिग्ध फरार हो गई। उसका सैम्पल ले लिया गया था। जांच रिपोर्ट का इंतजार है। पीएमसीएच ने महिला के लापता होने की लिखित सूचना पुलिस को दे दी है। महिला सीवान की रहने वाली थी। राज्य में शनिवार को चार मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।
  • दिल्ली, संक्रमित- 1069: निजामुद्दीन मरकज में जुटी तब्लीगी जमात को देश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने की बड़ी वजह माना जा रहा है, लेकिन अब केजरीवाल सरकार ने अपने हेल्थ बुलेटिन से मरकज कैटेगरी हटा दी है। इसकी जगह अंडर स्पेशल ऑपरेशंस लिखा जा रहा है। मरकज के लोगों के आंकड़े अलग लिखे जाने पर दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग ने आपत्ति जताई थी। 
  • गुजरात, संक्रमित- 516: यहां रविवार को 48 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें से 23 मरीज अहमदाबाद में और 2 आणंद में मिले हैं। राज्य में शनिवार को 90 संक्रमित मिले थे। यहां सबसे ज्यादा 251 संक्रिमित अहमदाबाद में और इसके बाद 77 वडोदरा में हैं। 
    • जम्मू-कश्मीर, कुल संक्रमित- 244: रविवार को यहां 21 नए मामले सामने आए। बड़गाम के शेखपोरा में शनिवार को एक व्यक्ति की स्क्रीनिंग करने पहुंची मेडिकल टीम को घर में बंधक बना लिया गया। मौके पर पुलिस पहुंची तो उस पर पथराव कर दिया गया। इसमें 3 पुलिसकर्मी घायल हो गए। हालांकि, उन्होंने स्वास्थ्य कर्मियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया। शनिवार रात कुपवाड़ा में भी एक व्यक्ति पर केस दर्ज किया गया। उस पर दिल्ली की मरकज में जाने की बात छिपाने का आरोप है। जम्मू-कश्मीर में शनिवार को संक्रमण के 17 मामले सामने आए।

    हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन से फायदे से ज्यादा नुकसान- एम्स डायरेक्टर

    मलेरिया की दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन को कोरोना के इलाज में मददगार बताए जाने पर एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा कि लैब से प्राप्त कुछ डेटा से पता चलता है कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का कोविड-19 के संक्रमण में कुछ असर हो सकता है, लेकिन यह बात पुख्ता नहीं है। आईसीएमआर के विशेषज्ञों का मानना है कि यह कोरोनावायरस के क्लोज कॉन्टैक्ट में रहे लोगों के लिए कुछ मददगार हो सकती है, लेकिन यह सभी के इलाज के लिए नहीं है। इससे हृदय से संबंधित परेशानियां हो सकती हैं। यह धड़कनों पर असर डाल सकती है। दूसरी दवाओं की तरह इसके भी साइड इफेक्ट्स हैं। यह आम लोगों के लिए फायदे से ज्यादा नुकसानदेह हो सकती है।