ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
AAP की जीत पर क्या कहते हैं केजरीवाल के पुराने साथी? यहां जानिए
February 12, 2020 • Rashtra Times

दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने शानदार जीत दर्ज की है। इस जीत के साथ ही आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल एक बार फिर से दिल्ली की सत्ता की कमान संभालेंगे। वह तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। पद और गोपनीयता की शपथ वह रामलीला मैदान में 16 फरवरी को लेंगे। यह वही रामलीला मैदान है जहां पर एक बार वह अन्ना के करीब बैठकर देश में एंटी करप्शन मूवमेंट का नेतृत्व कर रहे थे। उनके साथ उस वक्त कई सहयोगी भी थे। जिनमें से कुछ सहयोगी आज भी उनकी पार्टी में है जबकि कुछ उनकी पार्टी को छोड़ चुके हैं। तो हम आपको बताते हैं कि आम आदमी पार्टी को छोड़कर जाने वाले नेताओं की अरविंद केजरीवाल के इस जीत पर क्या कहना है। सबसे पहले बात करते हैं आम आदमी पार्टी के गठन में अहम भूमिका निभाने वाले योगेंद्र यादव की। योगेंद्र यादव आम आदमी पार्टी के एक वक्त पर बड़े नेता हुआ करते थे। हालांकि योगेंद्र यादव और आप के बीच ज्यादा नहीं बन पाई और उन्होंने पार्टी से दूरी बना ली। हालांकि योगेंद्र यादव ने इस जीत के लिए केजरीवाल को बधाई दी है। योगेंद्र यादव ने कहा कि वह इस बात से राहत महसूस कर रहे है कि भारतीय जनता पार्टी की इस चुनाव में हार हुई है। क्योंकि अगर वह सत्ता में आते तो आगे चलकर सांप्रदायिकता का खेल करते जो कि एक बुरे दिन की तरह होता। उन्होंने कहा कि फिर देश में कत्ले-ए- आम मचाता। योगेंद्र ने केजरीवाल को बधाई दी और कहा है कि वह दिल्ली की सत्ता में आने के काबिल थे। वहीं दूसरी ओर आम आदमी पार्टी के संस्थापकों में से एक और वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने केजरीवाल की जीत पर सीधे तौर पर तो उन्हें कोई बधाई नहीं दी है पर उन्होंने इस हार पर बीजेपी पर एक के बाद एक कई तंज जरूर कसे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी के भड़काऊ बयानों को लेकर दिल्ली की जनता ने उन्हें जवाब दे दिया है। प्रशांत ने अमित शाह पर भी अपने ट्वीट के जरिए तंज कसा है। आम आदमी पार्टी के अन्य संस्थापकों में शामिल कुमार विश्वास, किरण बेदी, जनरल वीके सिंह, और शाजिया इल्मी ने लगभग केजरीवाल की इस से जीत पर चुप्पी साध रखी है। आप छोड़ भाजपा में शामिल हुई शाजिया इलमी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए यह जरूर लिखा है कि आम आदमी पार्टी की इस शानदार जीत के लिए बधाई। कुमार विश्वास की मनीष सिसोदिया और अरविंद केजरीवाल से आजकल यदावत चल रही है। वीके सिंह भाजपा में आ गए हैं और केंद्र सरकार में मंत्री हैं। किरण बेदी 2015 के चुनाव में भाजपा की तरफ से केजरीवाल को चुनौती दे रही थीं। हालांकि भाजपा उनके नेतृत्व में दिल्ली में बुरी तरीके से पराजित हुई थी। उन्होंने भी केजरीवाल की इस जीत पर चुप्पी साध रखी या। वहीं आम आदमी पार्टी को छोड़कर अपने पुराने प्रोफेशन में लौटने वाले पत्रकार आशुतोष ने केजरीवाल की इस जीत से बेहद खुश नजर आ रहे हैं। उन्होंने अपने आर्टिकल के जरिए केजरीवाल को बधाई देते हुए भाजपा पर तंज कसा है। एक आर्टिकल में उन्होंने लिखा है आप की दिल्ली में ऐतिहासिक विजय हुई है। यह भारत के लोकतंत्र को मजबूत करने वाली है। देश के लोकतंत्र को कमजोर करने की कोशिशों को इससे झटका लगेगा। वहीं आप की टिकट पर सांसदी का चुनाव लड़ चुकीं गुल पनाग गुल पनाग ने बधाई देते हुए लिखा, 'बधाई AAP, एक शानदार, स्वच्छ अभियान पर। आपके द्वारा किए गए काम के आधार पर यह चुनाव लड़ा।'