ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
519 अंक नीचे खुला डाउ जोंस, देश में संक्रमितों का आंकड़ा 7.92 लाख के पार, नौकरियां बचाने के लिए विदेशी नागरिकों का प्रवासन अस्थायी तौर से बंद होगा
April 21, 2020 • Rashtra Times

नई दिल्ली. कोरोनावायरस महामारी के चलते ट्रैवल, लाइव एंटरटेनमेंट, फिजिकल रिटेल समेत कई कंपनियां भारी नुकसान झेल रही है। दूसरी तरफ ऑनलाइन कंपनियों पर भारी डिमांड आ रही है। इसके बावजूद ऑनलाइन कंपनियों को विज्ञापन की दर कम करनी पड़ रही है। बता दें कि सोशल डिस्टेंसिंग के चलते ज्यादातर लोग इस समय ऑनलाइन कंपनियों पर निर्भर हैं। इन दिनों जरूरी सामान के लिए ई-काॅमर्स साइट्स से लेकर पढ़ाई-लिखाई और टाइम पास के लिए गेमिंग ऐप और अन्य एंटरटेंमेंट ऐप का खूब इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके मद्देनजर ब्रान्ड कंपनियां विज्ञापन के नए अवसर तलाश रही हैं।

कीमतों में लगभग 35% की कमी
ऑनलाइन ब्यूटी ब्रांड इंसर्ट नेम के सह-संस्थापक, केविन गोल्ड ने कहा कि वर्तमान में डिचिटल विज्ञापनों की कोस्ट पर क्लिक दर में करीब 35% की कमी आई है। वेब ट्रैफिक बढ़ने के चलते गूगल और फेसबुक के नेतृत्व वाली टाॅप ऑनलाइन विज्ञापन कंपनियां पर क्लिक दर में कटौती करने को मजबूर है। मीडिया एजेंसी पीएमजी के मुताबिक, ऑनलाइन साइट पर ट्रैफिक बढ़ने के बावजूद विज्ञापन का औसतन कोस्ट पर क्लिक (CPC) 10-15% कम हो गया है। सोशल मीडिया मार्केटिंग कंपनी, सोशलबैकर्स का कहना है कि फेसबुक पर सीपीसी दिसंबर से मार्च के अंत तक आधे से ज्यादा गिर गया। वहीं, ट्विटर पर विज्ञापन की कोस्ट पर क्लिक की दर 20% से 40% तक घट गई है।

ऑनलाइन स्किल क्लासेस में कंपनियों ने बढ़ाया विज्ञापन का खर्च
ई-कॉमर्स, इंटरनेट गेमिंग, ऑनलाइन क्लासेस, कुकिंग, म्यूजिक, फोटोग्राफी सीखने के प्रति लोगों में रूचि बढ़ी है। घर पर रहने के कारण ज्यादा से ज्यादा लोग ऑनलाइन सर्च पर समय बिता रहे हैं। उनकी मांग को पूरा करने के लिए विज्ञापन खर्च को बढ़ा रही है। बता दें कि स्मार्टफोन पर इस समय ज्यादातर लोग मास्टरक्लास देखना शुरू दिया है। वहीं, ज्यादातर लोग ऑनलाइन गेमिंग ऐप पर समय बिता रहे हैं। सोशल गेमिंग प्लेटफॉर्म, विनजो, पर लूडो और कैरम जैसे इंडोर गेम्स खेलने वालों की संख्या में भी 10 गुना की बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। इसे देखते हुए सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक भी ऐंड्रॉयड यूजर्स के लिए नया गेमिंग ऐप लॉन्च कर दिया है।

टीवी पर विज्ञापन 50 फीसदी तक घटे
कोविड-19 ने टीवी चैनलों के लिए मुसीबत बढ़ा दी है। टीवी चैनलों पर विज्ञापन की बुकिंग लगभग आधी हो गई है। कई ब्रांड की ओर से भुगतान में देरी भी हो रही है। 'इंडियन ब्रॉडकास्टिंग फाउंडेशन' (आईबीएफ) ने कहा है कि कोरोना संकट के चलते टीवी पर आने वाले शोज के प्रोडक्शन बंद हो गए हैं और आईपीएल जैसे लाइव स्पोर्टिंग इवेंट्स के रद्द होने के चलते विज्ञापनों पर भी पड़ा है।

आईबीएफ ने की राहत पैकेज की मांग
इस संबंध में आईबीएफ ने सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को पत्र लिखकर राहत पैकेज या अन्‍य कदम उठाने के बारे में मांग की है। आईबीएफ के मुताबिक, विज्ञापन के नहीं आने से टीवी चैनलों पर बुरा असर पड़ा है। आईबीएफ के अध्यक्ष एन. पी. सिंह ने कहा कि कोरोनावायरस और लॉकडाउन की वजह से टीवी ब्रॉडकास्‍ट सेक्‍टर को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है।