ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
27 साल की महिला ने दिया 3 बेटों को जन्म, कस्बे के सरकारी अस्पताल में हुई नॉर्मल डिलीवरी
December 10, 2019 • Rashtra Times


नवांशहर/बलाचौर.  नवांशहर जिले के कस्बा बलाचौर स्थित सिविल अस्पताल में मंगलवार को एक महिला ने तीन जुड़वां बेटों को जन्म दिया है। जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। हालांकि डॉक्टर की मानें तो बच्चे थोड़े से कमजोर हैं, उन्हें हीट में रखा गया है। दूसरी ओर महिला को पहले से 3 साल का एक बेटा है, वहीं अब एक साथ और लाल पैदा होने की इस खुशखबरी के बाद महिला के परिजन फूले नहीं समा रहे, वहीं इलाके में भी इसकी खासी चर्चा है।

27 साल की विमला नामक महिला होशियारपुर के गढ़शंकर तहसील में पड़ते गांव बिंजो की रहने वाली है। इस बारे में बलाचौर स्थित लेफ्टिनेंट जनरल बिक्रम सिंह मेमोरियल सरकारी अस्पताल की गायनेकोलॉजिस्ट डॉक्टर मनदीप कमल ने बताया कि विमला पत्नी अमनदीप सिंह को मंगलवार सुबह 9 बजे अस्पताल में लाया गया था। उन्होंने (डॉ. मनदीप कमल) और डॉक्टर दीपाली ने अपने स्टाफ के साथ इस महिला की बिल्कुल नॉर्मल डिलीवरी करवाई।

परिजनो के मुताबिक विमला और अमनदीप का विवाह 5 साल पहले हुआ था, जिनसे 3 साल का पहले भी एक बेटा है। अभी 8 दिन पहले ही उसका पति अमनदीप दोहा गया है, जब इस बारे में उसे सूचना दी गई तो वह बेहद खुश नजर आ रहा था। साथ ही परिवार के अन्य लोग भी खुशी के मारे फूले नहीं समा रहे हैं। रिश्तेदारों और आस-पड़ोस के लोगों ने भी बधाइयां देने पहुंचना शुरू कर दिया है।

हालांकि जच्चा विमला एकदम स्वस्थ है, लेकिन बच्चे थोड़े से कमजोर बताए जा रहे हैं। विमला ने 3 बच्चों को जन्म दिया है। तीनों ही लड़के हैं, जिनका भार 1 किलो 900 ग्राम, 1 किलो 800 ग्राम और 1 किलो 600 ग्राम है। इस बारे में डॉ. मनदीप कमल ने बताया कि नवजात बच्चों को हीट में रखा गया है।

इसके अलावा डिलीवरी के लिए निजी अस्पतालों को प्राथमिकता देने वाले लोगों को संदेश देते हुए डॉ. मनदीप कमल कहती हैं कि हमारे सरकारी अस्पताल में जच्चा-बच्चा के लिए पूरे प्रबंध हैं। लोग सरकारी अस्पताल में आएं और इसका लाभ उठाएं। डिलीवरी बिल्कुल फ्री होती है, उनके आने-जाने का खर्चा भी सरकार देती है। दवाइयां भी मुफ्त मिलती हैं और उसके बाद प्रोत्साहन राशि भी देकर जच्चा-बच्चा को विदा किया जाता है।