ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
250 नए मरीज मिले, एक की मौत; जयपुर में बड़ी संख्या में सड़कों पर निकले लोग, कई जगह जाम की स्थिति बनी
May 19, 2020 • Rashtra Times

 जयपुर. राजस्थान में मंगलवार को 250 नए पॉजिटिव केस सामने आए। इनमें डूंगरपुर में 70, पाली में 69, बाड़मेर और जयपुर में 17-17, नागौर में 16, उदयपुर में 13, जोधपुर और सिरोही में 11-11, टोंक और कोटा में 5-5, बीकानेर में 3, सीकर, प्रतापगढ़, झुंझुनू में 2-2, दौसा, झालावाड़, धौलपुर, सिरोही, चूरू, अलवर और अजमेर में 1-1 संक्रमित मिला। इसके साथ राज्य में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 5,757 तक पहुंच गया। भरतपुर में एक मौत भी रिकॉर्ड की गई। इसके बाद राज्य में कुल मौतों का आंकड़ा 139 तक पहुंच गया।

गाइडलाउन जारी होने के बाद सड़कों पर निकले लोग

जयपुर में लॉकडाउन 4.0 की शुरुआत के साथ कर्फ्यू में ढील को लेकर काफी असमंजस पैदा हो गया। मंगलवार सुबह लोग अपने ऑफिस के लिए निकल पड़े। इसके बाद सड़कों पर लंबा जाम लग गया। कई वाहन कर्फ्यू वाले इलाके में चले गए। इसके बाद पुलिस ने उन्हें वापस भेजा।

पॉजिटिव को भी कर दिया डिस्चार्ज

डूंगरपुर जिला अस्पताल में डॉक्टरों की गंभीर लापरवाही सामने आई है। यहां रविवार रात ठीक हुए दो मरीजाें के साथ एक पॉजिटिव मरीज को भी डिस्चार्ज कर दिया गया। सुबह अस्पताल को अपनी भूल का पता चला तो उसे आनन-फानन में वापस लाया गया। पॉजिटिव मरीज अपने गांव में 16 घंटे रहा। 
 
दूसरे राज्यों के लिए बसें चलाने पर चर्चा जारी: गहलोत

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि प्रदेश के कर्फ्यू वाले इलाकों को छोड़ कर सभी जगहों पर कमर्शियल एक्टिविटी शुरू की जाएगी। अंतर्राज्यीय बस परिवहन को लेकर अन्य राज्यों के साथ बात चल रही है। प्रवासी मजदूर पैदल नहीं चलें, इसकी व्यवस्था भी की जा रही है। राजस्थान में अब तक 5 लाख 80 हजार लोग बाहर से आ चुके हैं। इनमें से 581 लोग कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं। 

जोधपुर में संक्रमण मुक्त हुई महिला ने स्वस्थ बच्ची काे जन्म दिया
एमडीएमएच में कोरोना पॉजिटिव से निगेटिव हुई जालोर की 28 साल की महिला ने सोमवार को बच्ची को जन्म दिया। डिलीवरी सिजेरियन हुई। बच्ची स्वस्थ है और 2.7 किग्रा की है। महिला 11 मई को जालोर में पॉजिटिव आई थी। जयपुर में 200 से अधिक डॉक्टर, नर्स और पुलिसकर्मी प्लाज्मा देने के लिए तैयार
एसएमएस अस्पताल के 200 से ज्यादा डॉक्टर, नर्स, यहां तक कि पुलिसकर्मी भी कोरोना संक्रमितों को प्लाज्मा देने के लिए तैयार हैं। वे एंटीबॉडीज की जांच भी करा चुके हैं। जिन मरीजों में कोरोना खतरनाक स्तर तक पहुंच गया है, उनके लिए यह थैरेपी कारगर मानी जा रही है। इसमें एंटीबॉडी इस्तेमाल किया जाता है। किसी खास वायरस के खिलाफ शरीर में एंटीबॉडी तभी बनता है, जब इंसान उससे पीड़ित होता है।  33 में से 31 जिलों में संक्रमण पहुंचा

प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा केस जयपुर में हैं। यहां 1642 (2 इटली के नागरिक) संक्रमित हैं। इसके अलावा जोधपुर में 1129 (इनमें 47 ईरान से आए), कोटा में 331, अजमेर में 257, उदयपुर में 414, टोंक में 154, चित्तौड़गढ़ में 159, नागौर में 190, भरतपुर में 129, बांसवाड़ा में 72, पाली में 201, जालौर में 97, जैसलमेर में 73 (इनमें 14 ईरान से आए), झालावाड़ में 50, झुंझुनूं में 60, भीलवाड़ा में 80, बीकानेर में 56, मरीज मिले हैं। उधर, दौसा में 39, धौलपुर में 28, अलवर में 36, चूरू में 47, राजसमंद में 53, सिरोही में 60, डूंगरपुर में 194, हनुमानगढ़ में 14, सीकर में 47, सवाई माधोपुर में 17, बाड़मेर में 50, करौली में 10, प्रतापगढ़ में 7 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। बारां में 4 संक्रमित मिले हैं। जोधपुर में बीएसएफ के 50 जवान भी पॉजिटिव मिल चुके हैं। वहीं दूसरे राज्यों से आए 7 लोग पॉजिटिव मिले।
राजस्थान में कोरोना से अब तक 139 लोगों की मौत हुई है। इनमें जयपुर में 72 (जिसमें चार यूपी से), जोधपुर में 17, कोटा में 12, अजमेर में 5, भरतपुर, पाली और नागौर में 4-4, बीकानेर  में 3, जालौर, करौली, अलवर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़ और सीकर में 2-2, उदयपुर, बांसवाड़ा, चूरू, प्रतापगढ़, सवाई माधोपुर और टोंक में 1-1 की मौत हो चुकी है।