ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
24 घंटे के अंदर 50 नए पॉजिटिव केस आए, जिसमें 49 एपिसेंटर बने एक मोहल्ले से
April 19, 2020 • Rashtra Times

भरतपुर. कोरोना संक्रमितों को लेकर भरतपुर का बयाना एपिसेंटर बन चुका है। यहां रविवार सुबह 8 नए पॉजिटिव केस सामने आए। वहीं पिछले 24 घंटों की यहां 50 नए पॉजिटिव केस आ चुके हैं। इनमें 49 बयाना कस्बे और एक ही मोहल्ले के हैं। जबकि नगर विधानसभा क्षेत्र में पीला का बास के 7 वर्षीय बच्चे की दूसरी रिपोर्ट शुक्रवार आधी रात को ही पॉ़जिटिव आ गई थी। इन्हें मिलाकर अब 6 तहसीलों बयाना, वैर, कामां, पहाड़ी, नगर और भरतपुर में अब 93 केस हो गए हैं। इनमें 86 केस अकेले बयाना कस्बे के हैं। इनमें से 8 रोगी जयपुर के एसएमएस औऱ बाकी स्थानीय आरबीएम अस्पताल में भर्ती हैं। जबकि पीला के बास का एक रोगी जयपुर में ठीक होकर अपने घर जा चुका है। 

जानकारी अनुसार पिछले 24 घंटे में पॉजिटिव मिले 50 में से पीला का बास के 7 वर्षीय बच्चे समेत 4 की पॉजिटिव रिपोर्ट शुक्रवार आधी रात 12.30 बजे ही मिल गई थी। जबकि 38 लोगों की रिपोर्ट शनिवार दिन में और 8 लोगों की रिपोर्ट रविवार सुबह मिली। इनमें 3 अलापुरी क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे थे जबकि 5 लोग रैंडम सैंपलिंग वाले हैं। उन्होंने बताया कि इससे पहले 16 अप्रैल को मिले 11 संक्रमितों के सैंपल दुबारा जांच के लिए भेजे गए थे इनमें से 3 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है जबकि 6 की रिपोर्ट दुबारा पॉजिटिव आई है। दो सैंपल लीक होने के कारण दुबारा भेजे जाएंगे।

इन सभी को कसाईपाड़ा मोहल्ले से निकालकर आइसोलेशन औऱ क्वारेंटाइऩ सेंटर में रखा हुआ था। बयाना कस्बे समेत जिले में स्क्रीनिंग और रैंडम सैंपलिंग का काम जारी है। जो लोग क्वारेंटाइन में 14 दिन का समय पूरा कर चुके हैं, उन्हें घर भी भेजा जा रहा है। शनिवार को मिले लगभग सभी रोगियों में कोरोना के सामान्य लक्षण न होकर साइलेंट सिम्टम्स हैं। लेकिन, चिंता इसलिए है क्योंकि बयाना कस्बे के कंटेनमेंट और बफर जोन में 10036 मकान और 71 हजार से ज्यादा आबादी रह रही है।

पीला का बास में हटने के बाद फिर लगा कर्फ्यू
उधर, नगर विधानसभा क्षेत्र के पीला का बास (रुस्तम नगर) में शनिवार को फिर कर्फ्यू लगाना पड़ा है। इससे पहले 10 दिन में कोई पॉजिटिव न मिलने के कारण शुक्रवार को यहां से कर्फ्यू हटा लिया गया था। बयाना में प्रशासन की सबसे बड़ी लापरवाही सामने यह आई है कि अलापुरी क्वारैंटाइन सेंटर में रखे गए सभी संदिग्ध मेडिकल एडवाइजरी के बावजूद आपस में खूब घुले मिले। स्थानीय चिकित्सा प्रभारी भरत मीणा ने बताया कि इस सेंटर में रह रहे 126 संदिग्धों के 14 अप्रैल को सैंपल लिए गए थे इनमें से 26 की दिन में पॉजिटिव रिपोर्ट आ चुकी थी। अब बाकी लोगों के भी दुबारा सैंपल लिए जाएंगे। वहीं बयाना कस्बे में दिन भर पुलिस की टुकडियों ने फ्लैग मार्च किया।

अब भीलवाड़ा मॉडल से ही कोरोना को काबू करने का होगा प्रयास
प्रदेश में सबसे पहले हॉटस्पॉट बने भीलवाड़ा के 6 बिंदु वाले मॉडल को लागू करने के ही कोरोना को काबू करने के प्रयास शुरू कर दिए हैं। इनमें बयाना समेत जिले की सभी अंतरराज्यीय और दूसरे जिलों से सटी सीमाएं पूरी तरह सील कर दी गई हैं। चूंकि बयाना के कसाईपाड़ा मोहल्ले से ही संक्रमण ज्यादा फैला है, इसलिए सभी संदिग्धों को निकालकर क्वारेंटाइन कर दिया गया है। इनमें भी संक्रमितों के क्लोज संपर्क वालों को और बिना संपर्क वाले लोगों को अलग-अलग रखा गया है। बयाना कस्बे में कसाईपाड़ा मोहल्ले की सभी गलियां सील करने के साथ ही बाकी जगह लागू कर्फ्यू को अब और सख्त कर दिया गया है। जरूरी सामान की होम डिलीवरी कराई जा रही है। स्क्रीनिंग और सैंपलिंग के काम में तेजी लाई गई है।

राशन सामग्री के 6 वाहन चलेंगे, करेंगे होम डिलीवरी
बयाना के कर्फ्यूग्रस्त इलाकों में जरूरी सामान उपलब्ध कराने के लिए प्रशासन ने 6 वाहन चलाने का निर्णय लिया है। इनमें से 3 वाहन पहले से ही घर-घर होम डिलीवरी कर रहे हैं।

बयाना के 2 वर्षीय मृत बच्चे की रिपोर्ट आई नेगेटिव
बयाना के क्वारेंटाइन सेंटर में दिमागी बुखार से जेके लोन अस्पताल जयपुर मृत दो वर्षीय बच्चे की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई है। सीएमएचओ के मुताबिक इस बच्चे को बुधवार को भरतपुर से रैफर किया गया था। जहां गुरुवार को उसकी मौत हो गई।