ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
13 साल की बच्ची पॉजिटिव मिली ; पहली रिपोर्ट में आई थी निगेटिव, रिपीट टेस्ट में मिली संक्रमित
April 30, 2020 • Rashtra Times

बारां. शहर में कोरोना पॉजिटिव का पहला मामला सामने आया है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अनुसार कोटा मेडिकल कॉलेज में भर्ती बारां के भंवरगढ़ की रहने वाली 13 वर्षीय बालिका कोरोना पॉजिटिव मिली है। जो करीब पांच दिन पहले से कोटा में भर्ती थी। विभाग की ओर से संबंधित क्षेत्र में डोर टू डोर सर्वे ओर स्क्रीनिंग शुरू कर दी है। 

सीएमएचओ सम्पतराज नागर ने बताया कि बच्ची कुछ दिन पहले नाना के निधन पर मध्यप्रदेश के बड़ोदा में परिवार के साथ गई थी। वहां से 25 अप्रैल को सुबह वापस लौटी थी। विभाग ने उसे शाम को नाहरगढ़ क्वारैंटाइन सेंटर पर भर्ती किया। डाइबिटीज और तबीयत खराब होने पर बारां रेफर किया। जहां रात करीब 11 बजे कोटा रेफर कर दिया। वहां भर्ती करने पर उसका कोरोना जांच के लिए सैम्पल लिया, जिसकी रिपोर्ट 26 अप्रैल को निगेटिव आई। 29 अप्रैल को रिपीट सैम्पल जांच में कोरोना पॉजिटिव आई। विभाग की ओर से क्षेत्र में स्क्रीनिंग ओर सर्वे शुरू कर दिया है।

रैंडम सैंपलिंग शुरू हुई

राज्य सरकार के निर्देश पर जिले में रैंडम सैंपलिग शुरू की गई है। इसमें बारां सहित चार अन्य गांव से 250 सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे जाएंगे। इसके तहत बुधवार को बारां और अंता के नियाना गांव से कुल 87 सैंपल लिए गए हैं। मंगलवार को बामला गांव से भी 21 सैंपल लिए गए हैं।

जानिए... कैसे होती है रैंडम सैंपलिंग, क्या हैं इसके फायदे
डिप्टी सीएमएचओ डॉ. राजेंद्र कुमार मीना ने बताया कि कम्युनिटी में बीमारी को पकड़ने के लिए रैंडम सैंपलिंग की जाती है। जैसे एक से 10 नंबर तक गली है, तो 10 की गोली डालकर उसमें आई गली के मकान गिनते हैं। उसमें मकानों के हिसाब से फिर से गोली डालते हैं, जैसे मकान नंबर सात निकला है, तो आगामी सैंपल 17, 27,37.. राउंड फिगर में 10 सैंपल लिए जाएंगे। जिले में बारां शहर सहित अंता के नियाना, बारां तहसील के बामला, किशनगंज के रामगढ़, अटरू के बहादुरगंज से कुल 250 रैंडम सैंपल लिए जाएंगे। इनको जांच के लिए भेजा जाएगा। अभी मंगलवार को बामला से 21 सैंपल लिए गए। बुधवार को बारां से 58 और अंता के नियाना से 29 सैंपल लिए गए। इस प्रकार कुल 108 सैंपल लिए जा चुके हैं। शेष की सैंपलिंग गुरुवार को होगी।

मांगरोल बायपास पीएचसी पर दो टीमों ने लिए रैंडम सैंपल
सीएमएचओ डॉ. नागर ने बताया कि रैंडम सैंपलिंग के लिए डाॅ. अरविंद नागर, आरआरटी नोडल एवं शहरी स्वास्थ्य मिशन के जिला कार्यक्रम प्रबंधक राकेश नागर ने चिकित्सा अधिकारी और लैब टैक्नीशियन की दो टीम का गठन करते हुए सैंपलिंग की कार्रवाई पूरी की। रैंडम सैंपल की प्रक्रिया में श्रमिक काॅलोनी, गोपाल काॅलोनी, नयापुरा बस्ती, मेला ग्राउंड, कोसर काॅलोनी, दयानंद काॅलोनी, माथना रोड, नाकोड़ा काॅलोनी, शिवाजी काॅलोनी, कुम्हारों का मंदिर, सब्जीमंडी की टेक, शिव काॅलोनी आदि बस्तियों के महिला एवं पुरुषों के सैंपल लिए गए। इस अवसर पर चिकित्सा अधिकारी प्रभारी डाॅ. रूपचंद मीणा, पीएचएम विष्णु प्रसाद सुमन, जीएनएम प्रमोद जंगम, शबाना, लैब टैक्नीशियन हिमांशु गोयल, कुलदीप मीणा, लेखराज हाड़ा, एएनएम सुनीता राठी, गुलशन आरा, नर्सिंग ट्यूटर पवन वैष्णव, सहायक कर्मचारी भजनलाल ने सहयोग किया।

अब तक 662 के लिए सेंपल, 463 की रिपोर्ट आई निगेटिव
डिप्टी सीएमएचओं राजेंद्र कुमार मीना ने बताया कि जिले में अब तक लिए गए कुल 662 कोरोना सेंपलों की जांच में कुल 463 की रिपोर्ट निगेटिव मिली है। 199 सेंपलों की जांच प्रक्रियाधीन है। बुधवार को अस्पतालों की ओपीडी में 5 हजार 989 मरीजों की स्क्रीनिंग की गई, जिसमे 266 मरीज आईएलआई इन्फ्लुएंजा लाइक इलनेस के पाए गए। इसे मिलकर ओपीडी में अब तक 3 लाख 13 हजार 531 मरीजो की स्क्रीनिंग हो चुकी है, जिसमे कुल 42 हजार 410 आईएलआई मरीज मिले हैं। चिन्हित होम क्वारैनटीन में 2298 व्यक्तियों को रखा है, जिसमें से 726 को डिस्चार्ज किया। होम क्वारैनटीन के अंदर कुल 16 हजार 680 व्यक्तियों को रखा गया, जिनमें से 13058 को डिस्चार्ज किया गया। बुधवार को 695 टीमों ने 28 हजार 527 घरों के 1 लाख 40 हजार 491 सदस्यों का सर्वे किया।