ALL राजनीति मनोरंजन तकनीकी खेल कारोबार धार्मिक अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय ई पेपर पीआर न्यूजवायर
<no title>
April 22, 2020 • Rashtra Times

वॉशिंगटन. कोरोनावायरस से दुनिया में अब तक 25 लाख 56 हजार 725 संक्रमित हो चुके हैं। एक लाख 77 हजार 618 की मौत हो चुकी है। छह लाख 90 हजार 329 ठीक हुए हैं। स्पेन में मौतों की दर कम हो रही है। सरकार अगले महीने कुछ पाबंदियां हटा सकती है। यहां सबसे बड़े अस्थायी मुर्दाघर को भी अब बंद कर दिया गया है। एक अहम खबर ब्रिटेन से है। यहां की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता गुरुवार से कोरोना वैक्सीन का टेस्ट इंसानों पर शुरू करेंगे। सरकार इंपीरियल कॉलेज को वैक्सीन रिसर्च के लिए करीब 210 करोड़ रुपए (22.5 मिलियन पाउंड) दे रही है। 

फ्रांस : पाबंदियों में सशर्त छूट

देश में मरने वालों का आंकड़ा 20 हजार 800 के करीब पहुंच गया है। राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कुछ सेक्टर्स में सशर्त राहत दी है। यहां देखिए फ्रांस पर एक वीडियो रिपोर्ट।

कोरोनावायरस : सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

 

देशकितने संक्रमितकितनी मौतेंकितने ठीक हुए
अमेरिका8 लाख 18 हजार 74445 हजार 31882 हजार 923
स्पेन2 लाख 4 हजार 17821 हजार 28282 हजार 514
इटली 1 लाख 83 हजार 95724 हजार 64851 हजार 600
फ्रांस1 लाख 58 हजार 05020 हजार 79639 हजार 181
जर्मनी1 लाख 48 हजार 4535 हजार 08695 हजार 200
ब्रिटेन1 लाख 26 हजार 04417 हजार 337उपलब्ध नहीं
तुर्की 95 हजार 5912 हजार 25914 हजार 918
ईरान84 हजार 8025 हजार 29760 हजार 965
चीन 

82 हजार 788

4 हजार 63277 हजार 151
रूस47 हजार 1214563 हजार 873

ये आंकड़े https://www.worldometers.info/coronavirus/ से लिए गए हैं।

स्पेन : मुर्दाघर बंद
मैड्रिड शहर में बनाए गए अस्थायी मुर्दाघर को स्थानीय प्रशासन बंद करने जा रहा है। करीब एक महीने में सेना के ट्रकों से लाए गए 1146 श‌व यहां बर्फ के बीच रखे गए थे। यहां की मेयर इसाबेल डियाज की मौजूदगी में बुधवार को यहां दो मिनट का मौन रखकर मृतकों को श्रद्धांजलि दी गई। डियाज ने कहा, “इससे ज्यादा राहत और क्या होगी कि यहां अब कोई डेड बॉडी नहीं है। हमारी सेना और कर्मचारियों ने हर पार्थिव शरीर को पूरा सम्मान दिया।” 

स्पेन : पाबंदियां हटेंगी
देश में सख्त लॉकडाउन को करीब डेढ़ महीना हो चुका है। मृतकों की दर में कमी आई है। लिहाजा, सरकार ने संकेत दिए हैं कि अगले महीने 15 मई तक सख्त पाबंदियों में कुछ ढील दी जा सकती है। माना जा रहा है कि रेस्टोरेंट्स और कैफे खोले जा सकते हैं। कुछ बिजनेस सेक्टर्स को भी सशर्त छूट मिल सकती है। लेकिन, ये साफ है कि स्कूल, कॉलेज और सामाजिक समारोहों पर लगी पाबंदी नहीं हटाई जाएंगी।

  • Hindi News
  • International
  • Coronavirus China Italy | Coronavirus Outbreak China Italy Iran USA Japan France Live Today News Updates World Cases Novel Corona COVID 19 Death Toll
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
 
 

कोरोना दुनिया में LIVE / अब तक 25 लाख संक्रमित और 1 लाख 77 हजार मौतें: स्पेन का सबसे बड़ा अस्थायी मुर्दाघर अब बंद, देश में कुछ सख्त पाबंदियां भी हटेंगी

स्पेन के मैड्रिड में 24 मार्च को शुरू किए गए अस्थायी मुर्दाघर को अब बंद कर दिया गया है। यहां की मेयर इसाबेल डियाज ने बुधवार को स्टाफ और आम लोगों के साथ कुछ देर मौन रखकर मृतकों को श्रद्धांजलि अर्पित की।
  • एशिया में सबसे ज्यादा 5,297 मौतें ईरान में हुई हैं, उसके बाद चीन में 4,632 की जान गई
  • संयुक्त राष्ट्र ने कहा- संकट की वजह से 30 से ज्यादा देशों के लगभग 26.5 करोड़ लोग भुखमरी की कगार पर होंगे

दैनिक भास्कर

Apr 22, 2020, 08:07 PM IST

वॉशिंगटन. कोरोनावायरस से दुनिया में अब तक 25 लाख 56 हजार 725 संक्रमित हो चुके हैं। एक लाख 77 हजार 618 की मौत हो चुकी है। छह लाख 90 हजार 329 ठीक हुए हैं। स्पेन में मौतों की दर कम हो रही है। सरकार अगले महीने कुछ पाबंदियां हटा सकती है। यहां सबसे बड़े अस्थायी मुर्दाघर को भी अब बंद कर दिया गया है। एक अहम खबर ब्रिटेन से है। यहां की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता गुरुवार से कोरोना वैक्सीन का टेस्ट इंसानों पर शुरू करेंगे। सरकार इंपीरियल कॉलेज को वैक्सीन रिसर्च के लिए करीब 210 करोड़ रुपए (22.5 मिलियन पाउंड) दे रही है। 

फ्रांस : पाबंदियों में सशर्त छूट

देश में मरने वालों का आंकड़ा 20 हजार 800 के करीब पहुंच गया है। राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कुछ सेक्टर्स में सशर्त राहत दी है। यहां देखिए फ्रांस पर एक वीडियो रिपोर्ट।

कोरोनावायरस : सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

देशकितने संक्रमितकितनी मौतेंकितने ठीक हुए
अमेरिका8 लाख 18 हजार 74445 हजार 31882 हजार 923
स्पेन2 लाख 4 हजार 17821 हजार 28282 हजार 514
इटली 1 लाख 83 हजार 95724 हजार 64851 हजार 600
फ्रांस1 लाख 58 हजार 05020 हजार 79639 हजार 181
जर्मनी1 लाख 48 हजार 4535 हजार 08695 हजार 200
ब्रिटेन1 लाख 26 हजार 04417 हजार 337उपलब्ध नहीं
तुर्की 95 हजार 5912 हजार 25914 हजार 918
ईरान84 हजार 8025 हजार 29760 हजार 965
चीन 

82 हजार 788

4 हजार 63277 हजार 151
रूस47 हजार 1214563 हजार 873

ये आंकड़े https://www.worldometers.info/coronavirus/ से लिए गए हैं।

स्पेन : मुर्दाघर बंद
मैड्रिड शहर में बनाए गए अस्थायी मुर्दाघर को स्थानीय प्रशासन बंद करने जा रहा है। करीब एक महीने में सेना के ट्रकों से लाए गए 1146 श‌व यहां बर्फ के बीच रखे गए थे। यहां की मेयर इसाबेल डियाज की मौजूदगी में बुधवार को यहां दो मिनट का मौन रखकर मृतकों को श्रद्धांजलि दी गई। डियाज ने कहा, “इससे ज्यादा राहत और क्या होगी कि यहां अब कोई डेड बॉडी नहीं है। हमारी सेना और कर्मचारियों ने हर पार्थिव शरीर को पूरा सम्मान दिया।” 

स्पेन : पाबंदियां हटेंगी
देश में सख्त लॉकडाउन को करीब डेढ़ महीना हो चुका है। मृतकों की दर में कमी आई है। लिहाजा, सरकार ने संकेत दिए हैं कि अगले महीने 15 मई तक सख्त पाबंदियों में कुछ ढील दी जा सकती है। माना जा रहा है कि रेस्टोरेंट्स और कैफे खोले जा सकते हैं। कुछ बिजनेस सेक्टर्स को भी सशर्त छूट मिल सकती है। लेकिन, ये साफ है कि स्कूल, कॉलेज और सामाजिक समारोहों पर लगी पाबंदी नहीं हटाई जाएंगी।

स्पेन के मैड्रिड शहर की मेयर इसाबेल डियाज के मुताबिक, अस्थायी मुर्दाघर में हर पार्थिव शरीर को दफनाने से पहले पूरा सम्मान दिया गया।

अमेरिका पर तंज

नोबेल पुरस्कार से नवाजे जा चुके इकोनॉमिस्ट जोसेफ स्टिग्लिट्ज ने अमेरिका की ट्रम्प सरकार पर तंज कसा। कहा, “अमेरिका महामारी से ऐसे निपट रहा है जैसे वो तीसरी दुनिया का गरीब देश हो। यहां आर्थिक मंदी का खतरा मंडरा रहा है।” ब्रिटिश अखबार ‘ग गार्डियन’ को दिए इंटरव्यू में जोसेफ ने कहा, “लाखों लोग फूड बैंक के आगे खड़े हैं। गरीबों को पैसा नहीं मिल रहा है और हेल्थ फेसेलिटीज बेहद कमजोर नजर आ रही हैं। आने वालों महीनों में बेरोजगारी दर 30 फीसदी होने की आशंका है।”  

फ्रांस : बेरोजगारी से निपटने की तैयारी
देश के करीब 22 लाख अस्थायी कर्मचारियों ने सरकार की बेरोजगारी योजना का लाभ उठाने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है। लेबर मिनिस्टर मुरील पेनिकॉड ने कहा, “हर दूसरे कर्मचारी ने योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदन किया है। हर 10 में से 6 कंपनियों को सरकारी सहायता की जरूरत है। हम कोशिश कर रहे हैं कि जितना हो सके, इन लोगों की सहायता करें। हालात संभलने में कुछ वक्त लगेगा।” 

स्टीफन हॉकिंग का वेंटिलेटर दान

ब्रिटेन के मशहूर वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का वेंटिलेटर एक अस्पताल को डोनेट कर दिया गया है। स्टीफन का 2018 में निधन हो गया था। वे मोटर न्यूरॉन बीमारी से ग्रसित थे। उनकी बेटी के मुताबिक, बाकी सभी उपकरण अस्पताल को लौटा दिए गए थे। 

अकाल का खतरा

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक, महामारी की वजह से कई देशों में अकाल का खतरा है। विश्व खाद्य कार्यक्रम (डब्ल्यूएफपी) के प्रमुख डेविड बेस्ले ने कहा कि 30 से ज्यादा देशों में अकाल रोकने के लिए तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए। इस संकट की वजह से लगभग 26.5 करोड़ लोग भुखमरी की कगार पर होंगे। यमन, कांगो, अफगानिस्तान, वेनेजुएला, इथियोपिया, दक्षिण सूडान, सूडान, सीरिया, नाइजीरिया और हैती उन देशों की सूची में शामिल हैं, जहां अकाल का खतरा सबसे ज्यादा है। 

अमेरिका: दूसरे दौर का खतरा
सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के डायरेक्टर रॉबर्ट रेडफिल्ड के मुताबिक, कोरोना का दूसरा दौर बेहद खतरनाक साबित हो सकता है। उन्होंने कहा- आशंका है कि अगली सर्दियों में हम फिर इस महामारी की चपेट में होंगे। अमेरिकी राज्य मिसौरी ने कोरोना को लेकर चीन पर केस दर्ज कराया है। 

अमेरिका : 480 अरब डॉलर के राहत पैकेज को मंजूरी 

अमेरिकी सीनेट ने 480 अरब डॉलर के आपातकालीन पैकेज को मंजूरी दे दी। इसे छोटे व्यापारियों, अस्पतालों और टेस्टिंग पर खर्च किया जाएगा। डेमोक्रेट, रिपब्लिकन और व्हाइट हाउस के बीच एक हफ्ते चली बातचीत के बाद यह राहत पैकेज को मंजूरी दी जा सकी है। गुरुवार को हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में इस पर वोटिंग होगी। ट्रम्प ने कहा- राहत पैकेज से कमजोर और कामगार तबके को सबसे ज्यादा राहत मिलेगी।  

कनाडा: अब तक 1,834 मौतें

कनाडा में मंगलवार को एक हजार नए मामले सामने आए। संक्रमितों की कुल संख्या 38,422 हो गई है। 1,834 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले क्यूबेक (20,126) और ओंटेरियो (11,735) प्रांतों में हैं। डब्ल्यूएचओ ने 11 मार्च को कोरोना को महामारी घोषित किया था।

इटली: लॉकडाउन में ढील के आसार

यहां संक्रमण दर में पहली बार बड़ी गिरावट देखी गई। प्रधानमंत्री ग्यूसेप कोंटे ने कहा कि वे 4 मई के बाद लॉकडाउन में छूट देने का ऐलान करेंगे। यहां मंगलवार को 534 मौतें हुईं। 2,729 नए केस मिले। 24 हजार 648 लोगों की मौत हो चुकी है। एक लाख 83 हजार 957 संक्रमित हैं।

जापान: इटली के क्रूज पर 33 संक्रमित
नागासाकी पोर्ट पर मरम्मत के लिए ठहरे इटली के क्रूज पर 33 लोग संक्रमित मिले। जापान में पिछले 24 घंटे में 18 लोगों की मौत हुई। 377 नए संक्रमित मिले। कुल 281 लोग जान गंवा चुके हैं। प्रधानमंत्री शिंजो आबे इमरजेंसी लगा चुके हैं। 

दक्षिण अफ्रीका: 26 अरब डॉलर का राहत पैकेज
राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा ने मंगलवार को 26 अरब डॉलर के राहत पैकेज की घोषणा की। यह देश के जीडीपी के 10% के बराबर है। इसका इस्तेमाल संकट से जूझ रहे लोगों की मदद और अर्थव्यवस्था को बेहतर करने के लिए किया जाएगा। देश में 27 मार्च से लॉकडाउन है। अंतिम संस्कार को छोड़कर सार्वजनिक समारोहों पर प्रतिबंध है।

जर्मनी: बर्लिन मैराथन रद्द
जर्मनी सरकार इस साल बर्लिन मैराथन रद्द कर दी है। सरकारी बयान में कहा गया, “24 अक्टूबर तक भीड़ वाले किसी भी इवेंट को कराने पर रोक है। हम 26-27 सितंबर को होने वाली बर्लिन मैराथन का आयोजन नहीं कर पाएंगे।” देश में अब तक एक लाख 48 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। 5,086 की मौत हो चुकी है।

सऊदी अरब: लॉकडाउन में राहत पर विचार
सऊदी अरब सरकार रमजान के दौरान लॉकडाउन में राहत देने पर विचार कर रही है। सरकार ने सोमवार रात मक्का और मदीना में नमाज के लिए भी रहत दे दी है। देश में अब तक 11 हजार 631 संक्रमित हैं। 109 लोगों की मौत हो चुकी है।

चीन: 30 नए मामले 
चीन में मंगलवार को 30 नए मामले सामने आए हैं। इनमें से 23 संक्रमित ऐसे हैं जो दूसरे देशों से चीन पहुंचे। यहां मंगलवार को किसी संक्रमित की मौत नहीं हुई। राष्ट्रपति शी जिनपिंग मंगलवार को शांक्सी प्रांत के चिनमी गांव पहुंचे। यहां 188 गरीब परिवार रहते हैं। शी ने इस गांव में गरीबी दूर करने के लिए चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी ली।

रूस: मॉस्को में 24 घंटों में 28 की मौत
रूस की राजधानी मॉस्को में 24 घंटों में 28 लोगों की मौत हो गई। इससे यहां मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 261 पहुंच गया है। मॉस्को में कोरोना के 29,430 मामलों की पुष्टि हुई है। यहां 2,050 मरीज स्वस्थ्य हुए हैं।  

ब्राजील: अब तक 2741 की जान गई
ब्राजील में 24 घंटे में 166 लोगों की मौत हुई, जबकि 2,500 नए केस सामने आए हैं। यहां मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 2,741 पहुंच गया। ‘द ब्राजीलियन रिपोर्ट’ के मुतबिक, नौ दिनों में संक्रमण का आंकड़ा यहां दोगुना हो गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्वीकार किया है कि मौतों की वास्तविक संख्या ज्यादा भी हो सकती है।